नई दिल्ली: दवा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी लुपिन ने बुधवार को कोविड- 19 के हल्के और कम गंभीर रोगियों के इलाज के लिए फेविपिराविर को ‘कोविहाल्ट’ ब्रांड नाम के साथ बाजार में उतारा है. इसकी एक गोली का मूल्य 49 रुपए रखा गया है. Also Read - Brucellosis Precautions: चीन में नए वायरस का हमला, अब ब्रूसीलोसिस मचा रहा तहलका, जानें भारत में इससे बचने के क्या हैं उपाय

बता दें कि इससे पहले सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज ने भी फेविपिराविर को ”फ्ल्यूगार्ड” ब्रांड नाम के तहत बाजार में उतारा है. उसने अपनी एक गोली की कीमत 35 रुपए रखी है. Also Read - संसद के मानसून सत्र की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित, कई रिकॉर्ड बने

लुपिन ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय जानकारी में कहा है कि फेविपिराविर को आपात स्थिति में इस्तेमाल के लिए भारत के औषधि महा नियंत्रक से अनुमति मिल गई है. Also Read - केंद्रीय रेल राज्‍य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

इसमें कहा गया है कि कोविहाल्ट में दवा की मात्रा को प्रशासन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए विकसित किया गया है. उसने कहा कि यह दवा 200 मिलीग्राम की गोली के रूप में 10 गोलियों की स्ट्रिप के रूप में उपलब्ध होगी. प्रत्येक गोली का दाम 49 रुपए रखा गया है.

लुपिन के भारत क्षेत्रीय फाम्र्यूलेशन (आईआरएफ) के अध्यक्ष राजीव सिब्बल ने कहा कि कंपनी को तपेटिक जैसे तेजी से फैलने वाले संक्रमण रोगों को व्यवस्थित करने के क्षेत्र में जो अनुभव है, उसका लाभ वह उठा सकेगी. वह अपने मजबूत वितरण नेटवर्क और मैदानी क्षेत्र में काम करने वाले कार्यबल के बलबूते देशभर में कोविहाल्ट की पहुंच सुनिश्चित कर सकेगी.

इससे पहले सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज ने भी फेविपिराविर को ”फ्ल्यूगार्ड” ब्रांड नाम के तहत बाजार में उतारा है. उसने अपनी एक गोली की कीमत 35 रुपए रखी है.