नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री केजी अल्फोंस का कहना है कि मॉब लिंचिंग और रेप जैसी घटनाओं का विदेशी टूरिस्टों के भारत भ्रमण पर थोड़ा असर पड़ा है, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि इस तरह की घटनाओं से दुनिया में भारत की छवि को धक्का लगा है. पर्यटन मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार संभाल रहे केजी अल्फोंस चीन के शहर बिजिंग, वुहान और संघाई के दौरे पर हैं जिससे यहां के लोगों को भारत में घूमने के लिए आकर्षिक किया जा सके. अन्य देशों की तुलना में यहां के पर्यटक भारत घूमने के मकसद से कम आते हैं. Also Read - पति ने अपनी ही पत्नी से 4 दोस्तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप, प्रेग्नेंट हुई महिला, मुकदमा दर्ज

मंत्री का कहना है कि भारत में बीफ बैन का असर भी विदेशी टूरिज्म पर नहीं पड़ा, क्योंकि केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में बीफ आसानी से उपलब्ध है.भारत में लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं का टूरिज्म पर किताना असर पड़ा है? इस सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि कुछ खास नहीं. लेकिन इस तरह की किसी भी घटना से देश की छवि को नुकसान पहुंचता है. हम ये बिल्कुल नहीं कह सकते कि इस तरह की घटनाओं से देश की इमेज प्रभावित नहीं होती. Also Read - डोनाल्ड ट्रम्प से 'रेपिस्ट' हार्वी वीन्सटीन पर कही ये बड़ी बात, बोले-वो हिलरी क्लिंटन को पसंद था

मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी ने इस तरह की घटनाओं को अपराध करार देते हुए राज्यों से सख्ती से निपटने को कहा है. एक चीनी पत्रकार ने जब मंत्री से पूछा कि भारत में विदेशी महिला टूरिस्ट की सुरक्षा के लिए सरकार ने क्या कदम उठाए हैं. मंत्री ने कहा कि सरकार का पूरा फोकस महिलाओं की सेफ्टी पर है और इसे लेकर कई तरह के कदम उठाए गए हैं. हाल ही में कुछ मीडिया रिपोर्ट में भारत को महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश बताया गया था. मंत्री ने कहा कि इस तरह की मीडिया रिपोर्ट जो पूर्वाग्रह से ग्रसित होती हैं उनसे निपटना बड़ी चुनौती है. Also Read - #MeToo: रेप और जबरन ओरल सेक्स के लिए मजबूर करता था ये नामी प्रोड्यूसर, दोषी करार

गौरतलब है कि देश में मॉब लिंचिग की घटनाएं बढ़ी हैं. भीड़ द्वारा पीट-पीट हत्या के कई मामले सामने आए हैं. कई राज्यों में जहां बीजेपी की सरकारें हैं वहां इस तरह की घटनाएं बार-बार हो रही हैं. हाल ही में वॉट्सऐप पर फैली अफवाहों की वजह से भीड़ ने कई लोगों को निशाना बनाया. भीड़ के हमले में कई लोगों को अपनी जान तक गंवानी पड़ी है.