नई दिल्ली: मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण (एमएसीटी) ने सड़क दुर्घटना में मारी गई एक महिला के परिजनों को 15 लाख रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया है. उत्तरी दिल्ली में वर्ष 2014 में महिला को एक मोटरसाइकिल सवार ने टक्कर मार दी थी. दुर्घटना में महिला की मौत हो गई थी. एमएसीटी के पीठासीन अधिकारी सुखवीर सिंह मल्होत्रा ने दुर्घटना में शामिल वाहन की बीमा कंपनी यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को उत्तरी दिल्ली की निवासी 46 वर्षीय प्रेम लता के पति और दो बेटों को 15,82,000 रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया है.

हालांकि अधिकरण ने बीमा कंपनी को यह स्वतंत्रता दी कि वह बाइक सवार के खिलाफ कार्रवाई कर सकता है और मुआवजे की राशि वसूल सकता है क्योंकि यह साबित हुआ कि उत्तर दिल्ली निवासी सुरेश बिना ड्राइविंग लाइसेंस के गाड़ी चला रहा था. मृतका के पति की ओर से दर्ज शिकायत के मुताबिक वह और उनकी पत्नी उत्तरी दिल्ली के बवाना में 30 अप्रैल 2014 को एक पुल पार कर रहे थे तभी प्रेम लता को एक मोटरबाइक ने टक्कर मार दी थी.