नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस के भीतर मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है. कांग्रेस के सीनियर नेता कमलनाथ और युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सीएम पद को लेकर मुकाबला है. दोनों ही नेताओं के समर्थक अपने-अपने नेता को सीएम के रूप में देखना चाहते हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनवाने के लिए उनके समर्थकों ने भोपाल में हवन किया.Also Read - All Elections Results Highlights: बंगाल में ममता की 'हैट्रिक', असम में BJP तो केरल में LDF की वापसी- तमिलनाडु में स्टालिन का दबदबा

हालांकि जिस तरह से सीएम को लेकर खींचतान चल रही है कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए किसी एक का नाम तय करना मुश्किल हो रहा है. यही कारण है कि संभावित उम्मीदवारों में चल रही खींचतान के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि पार्टी विधायकों और कार्यकर्ताओं की राय ले रही है और नामों की जल्द ही घोषणा की जाएगी. Also Read - यूपी के मंत्री ने कहा- कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर पाया वोट, पछता रहे हैं मध्यप्रदेश के लोग

Also Read - एमएनएफ के प्रमुख जोरमथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ

गांधी ने तीन राज्यों के लिए पार्टी के मुख्यमंत्रियों के चुनाव के मद्देनजर अपने आवास पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ विचार-विमर्श किया. उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘आप जल्द ही मुख्यमंत्रियों को देखेंगे. हम विधायकों, पार्टी कार्यकर्ताओं और अन्यों की राय ले रहे हैं. मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ को शीर्ष दावेदार माना जा रहा है.

पिछले 24 घंटे में गांधी की ओर से एक ऑडियो संदेश तीनों राज्यों में 7.3 लाख पार्टी कार्यकर्ताओं को भेजा गया जिसमें उनसे मुख्यमंत्री पद के लिए उनकी राय पूछी गई. ऑडियो संदेश में उन्हें तीन मुख्य राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत के लिए नेताओं को बधाई देते हुए सुना गया. उन्होंने कहा, ‘अब मैं आपसे एक अहम सवाल पूछना चाहता हूं : किसे मुख्यमंत्री बनना चाहिए? कृपया एक नाम बताए. आप जो नाम बताएंगे उसके बारे में केवल मुझे ही पता होगा. पार्टी में किसी को भी यह पता नहीं चलेगा.