बैतूल: मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में सात युवकों ने मोटरसाइकिल से जा रहे युवक से मारपीट कर उसे कुएं में फेंक दिया और उसकी बहन को सामूहिक रूप से अपनी हवस का शिकार बना डाला. पुलिस ने सात में से पांच आरोपियों को हिरासत में लिया है. पुलिस के अनुसार, जिला मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर दूर पाढ़र पुलिस चौकी क्षेत्र में एक युवक अपनी बहन के साथ मोटरसाइकिल से बुधवार की रात लगभग सवा आठ बजे पेट्रोल लेकर लौट रहा था, तभी रास्ते में युवकों के समूह ने रोका और युवक से मारपीट कर उसे कुएं में फेंक किया. Also Read - Lockdown 5.0: मध्य प्रदेश में 15 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, 13 जून के बाद खोले जाएंगे स्कूल

कोतवाली के थाना प्रभारी राजेंद्र धुर्वे के अनुसार, पीड़िता ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात्रि लगभग सवा आठ बजे सातों आरोपियों ने युवती को अपनी गिरफ्त में ले लिया था. आरोपी युवती से रात दो बजे तक उसके साथ दुष्कर्म करते रहे. गुरुवार की सुबह जैसे-तैसे उसका भाई कुएं से निकला और गांव में पहुंचा. भाई ने बहन के साथ घटित सामूहिक दुष्कर्म की घटना ग्रामीणों को बताई. इसके बाद ग्रामीणों के साथ युवती कोतवाली पहुंची और दुष्कर्मी युवकों के खिलाफ नामजद शिकायत दर्ज कराई. Also Read - मध्य प्रदेश में फंसे पश्चिम बंगाल के प्रवासियों के लिए अच्छी खबर, 2 और 6 जून को चलेंगी विशेष ट्रेनें

उन्होंने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म में शामिल सात आरोपियों में से पांच आरोपियों को हिरासत में लिया गया है. हिरासत में लिए गए इन आरोपियों में तीन नाबालिग हैं, जबकि दो बालिग हैं. बाकी दो आरोपी फरार हैं, जिनकी सरगर्मी से तलाश जारी है. आरोपियों में एक देवास जिले के नेमावर का निवासी है. वह लॉकडाउन के दौरान अपनी रिश्तेदार में आया था और यहीं रुका हुआ था. Also Read - मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार, 24 MLA बन सकते हैं मंत्री, सिंधिया खेमे के ये लोग लेंगे शपथ!

घटना की जानकारी मिलने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रद्धा जोशी, एसडीओपी विजय पुंज एवं एफएसएल प्रभारी मौके पर पहुंचे. वहीं देर शाम क्षेत्रीय विधायक ब्रह्मा भलावी एवं विधायक प्रतिनिधि नरेंद्र मिश्रा ने पीड़िता के घर पहुंचकर उसे 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद की. कुछ दिन पहले ही मध्य प्रदेश के दमोह में एक बच्ची से रेप का मामला सामने आ चुका है.