मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह का नाम गरीबी रेखा यानी BPL की सूचि में लिखा गया है। इस बात को दिग्विजय सिंह के बेटे ने साजिश बताते हुए वर्तमान सरकार पर बदनाम करने का आरोप लगाया है।

ये है पूरा मामल-

मध्य प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे व विधायक जयवर्धन सिंह ने अपने परिवार के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाते हुए कहा है कि एक तरफ गुना के जिलाधिकारी गरीबी रेखा की सूची में उनके परिवार का नाम आने पर चूक की बात कह रहे हैं, वहीं सरकार उज्ज्वला योजना में नाम होने की बात कर रही है।

जयवर्धन सिंह ने सोमवार को विधानसभा में शून्यकाल के दौरान अपने परिवार का नाम बीपीएल सूची में होने का मामला उठाया। उनका कहना है कि इस मामले पर गुना के जिलाधिकारी ने जो सफाई दी है, उसमें कहा गया है कि यह चूक हुई है। यह भी पढ़े: दिग्विजय सिंह का कांग्रेस की हार पर फूटा गुस्सा बोले, पार्टी को सर्जरी की जरूरत

इस पूरे मामले में सरकार ने सफाई देते हुए कहा है कि उनके परिवार के सदस्यों का नाम बीपीएल सूची में नहीं, बल्कि गैस के लिए तैयार की गई उज्ज्वला योजना की सूची में है।

जयवर्धन ने कहा कि दो तरह की बातें सामने आ रही हैं। जिलाधिकारी कुछ कह रहे हैं और सरकार की ओर से कुछ और कहा जा रहा है। इसके लिए जो भी दोषी है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने आरोप लगाया कि उनके परिवार को बदनाम करने के लिए साजिश की गई है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा था कि दिग्विजय िंसंह और उनके परिवार के सदस्यों का नाम गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) की सूची में नहीं, बल्कि उज्ज्वला योजना सूची में है।

News Source: IANS