जयपुर: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना पद नहीं छोड़ना चाहिए था, बल्कि चुनावी वादों को पूरा नहीं कर पाने के लिए कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को अपने पदों से हटना चाहिए था. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कर्जमाफी का विधानसभा चुनाव अभियान का वादा पूरा नहीं होने पर राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों को नहीं हटाने के लिए राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए.

चौहान ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी कहते थे कि दस दिन में कर्ज माफ नहीं हुआ तो 11वें दिन मुख्यमंत्री बदल दूंगा. आठ महीने हो गए. मध्य प्रदेश, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में कर्जा माफ नहीं हुआ… अब तक तो मुख्यमंत्री हट जाने चाहिए थे. मुख्यमंत्री तो नहीं हटे लेकिन कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद हट गए. राहुल गांधी रणछोड़ गांधी बन गए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी को पद छोड़ने की जरूरत नहीं थी, पद तो मुख्यमंत्रियों को छोड़ना चाहिए था.’’

चौहान ने कहा, ‘‘मेरा साफ कहना है कि कांग्रेस के पौधे से नई कोंपल तब तक नहीं फूटेगी जब तक परिवारवाद व वंशवाद समाप्त नहीं हो जाता. एक परिवार की गुलाम जब तक यह पार्टी बनी रहेगी, तब तक कांग्रेस पनप नहीं सकती.’’ उन्होंने जम्मू कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक गलती करने का आरोप पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर लगाया. उन्होंने कहा,‘‘एकतरफा युद्धविराम कर पंडित नेहरू इस मामले को संयुक्त राष्ट्र में ले गए. भारत देश के आंतरिक मामले को संयुक्त राष्ट्र में ले जाने की जरूरत क्या थी. जो ऐतिहासिक भूल पंडित जवाहर लाल नेहरू ने की थी, उस भूल को 70 साल के संघर्ष के बाद केवल 48 घंटे में सुधार दिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने.’’

‘नेहरू-गांधी परिवार पर भरोसा, तभी सोनिया बनीं अंतरिम अध्यक्ष, वंशवाद जैसी बातें बेकार’

चौहान ने कहा, ‘‘हम तो कांग्रेस से पूछना चाहते हैं कि कश्मीर पर रुख क्या है ये तो बताओ. अधीर रंजन चौधरी, पी. चिदंबरम अनुच्छेद 370 हटाए जाने का विरोध करते हैं, लेकिन कांग्रेस के कई नेता कह रहे हैं कि वे अनुच्छेद 370 हटाने का समर्थन करते हैं. कांग्रेस इतने बड़े मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट नहीं कर पा रही है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज देश पूछना चाहता है कि कांग्रेस का रुख क्या है, वह स्पष्ट करे.’’ कांग्रेस शासित राज्यों में कानून व्यवस्था को लेकर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि राजस्थान व मध्य प्रदेश तो अपराधियों के गढ़ बन गए हैं. उन्होंने कहा, ‘‘अपराधियों के हौसले इसलिए बुलंद हैं क्योंकि उन्हें राजनीतिक संरक्षण मिल रहा है. भारतीय जनता पार्टी तुष्टीकरण की नीति के खिलाफ है.’’ चौहान ने कहा, ‘‘तुष्टीकरण की नीति ने देश को बर्बाद किया और कांग्रेस को भी बर्बाद किया.’’

पूर्व मुख्यमंत्री चौहान भाजपा के राष्ट्रीय सदस्यता अभियान के संयोजक हैं. उन्होंने यहां पार्टी के सदस्यता अभियान की राज्यस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की. इस अभियान के तहत राज्य में 50 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य था जिसमें 47 लाख नए सदस्य बनाए गए हैं. चौहान ने कहा, ‘‘भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता अभियान केवल सत्ता के लिए नहीं है, भाजपा का यह अभियान देश बनाने के लिए है. देश बनाने के इस काम में हम समाज के हर वर्ग व आम जन को जोड़न चाहते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी भारत को भगवान का वरदान हैं. नरेंद्र मोदी व अमित शाह की जोड़ी अर्जुन और कृष्ण की तरह है, देश तेजी से आगे बढ़ रहा है.’’