भोपालः भारतीय जनता पार्टी के विधायक 5 दिनों तक दिल्ली के पास मानेसर के एक रिसोर्ट में रहने के बाद रविवार की देर रात को विशेष विमान से दिल्ली से भोपाल पहुंच गए. इन विधायकों को होटल और रिसॉर्ट में रुकाया जा रहा है. राज्य में चल रहे सियासी घमासान के बीच सोमवार से विधानसभा का बजट सत्र हो रहा है इससे पहले विधायकों का भोपाल पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है. Also Read - मध्य प्रदेश में बेकाबू रेत माफिया लॉकडाउन में भी कर रहे हैं खनन, ग्वालियर में सरकारी अमले पर किया हमला

भारतीय जनता पार्टी ने अपने विधायकों को एकजुट रखने के मकसद से मनेसर के एक रिसॉर्ट में रोका था इन विधायकों को विशेष विमान से बीते रविवार रात को लगभग 2 बजे दिल्ली से भोपाल लाया गया. राजा भोज हवाई अड्डे पर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा भी मौजूद रहे. इस मौके पर सुरक्षा के खास इंतजाम रहे . Also Read - Coronavirus Latest Update in Madhya Pradesh: राज्य में टोटल लॉकडाउन, दूध और दवा के अलावे कोई दुकान नहीं खुलेगी

विमान से आए विधायकों को बसों से होटल और एक रिसॉर्ट ले जाया गया है जहां इन्हें रोका जाएगा. इससे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने देर रात को राज्यपाल लालजी टंडन से राजभवन में मुलाकात की थी. उसके बाद संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा था कि विधानसभा में क्या होगा यह तो विधानसभा अध्यक्ष तय करेंगे. इस पर देर रात प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विधानसभा में क्या होगा यह तो सरकार तय करती है और उस आधार पर संचालन विधानसभा अध्यक्ष द्वारा ही किया जाता है.

वहीं, कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री के सलाहकार पंकज शर्मा ने दावा किया है कि विधानसभा के फ्लोर टेस्ट में भाजपा के 9 विधायक कांग्रेस का साथ देंगे, दूसरी ओर बेंगलुरु के कांग्रेस के विधायकों ने दोबारा अपना इस्तीफा भेज कर उसे मंजूर करने की विधानसभा अध्यक्ष से मांग की है, मगर इनकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि किसी ने नहीं की है.