नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के बीच कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार की सुबह अपने आवास से निकले. उनके ग्वालियर जाने की संभावना है जहां उनके दिवगंत पिता माधवराव सिंधिया की जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम होना है. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस से नाराज चल रहे सिंधिया सुबह दक्षिणी दिल्ली स्थित अपने आवास से निकले और वह खुद गाड़ी चला रहे थे. Also Read - Mann Ki Baat: पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट पर देशवासियों से मांगी माफी, कही ये बड़ी बातें

माना जा रहा है कि वह आज ग्वालियर पहुंचेंगे जहां उनके दिवंगत पिता की जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम होना है. इस बीच, कांग्रेस ने माधवराव सिंधिया की जयंती पर उन्हें याद किया. पार्टी के अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिये कहा, ‘माधवराव सिंधिया की जयंती पर हम उन्हें सम्मान याद करते हैं. वह नौ बार लोकसभा के सदस्य रहे और रेल मंत्री के तौर पर सेवा दी. उनके कार्यकाल के दौरान ही पहली शताब्दी ट्रेन की शुरुआत हुई.’ Also Read - 'मन की बात' में कोरोनावायरस को लेकर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 11 बजे से होगा प्रसारण

आपको बता दें कि इस समय मध्य प्रदेश की राजनिति में सियासी भूचाल आया हुआ है. सोमवार की देर पार्टी के 20 मंत्रियों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपना इस्तीफा सौंप दिया था और सीएम ने सभी लोगों का इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया था. इस पूरे घटनाक्रम के बाद से एमपी में राजनीतिक हालात बदले हुए हैं और अब माना जा रहा है कि 20 पूर्व मंत्रियों के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में आज शामिल हो सकते हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पीएम नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की जिसके बाद से यह कयास बढ़ गए हैं कि वे भाजपा में शामिल हो सकते हैं. उधर भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सिंधिया एक बड़े नेता हैं और अगर वे पार्टी में शामिल होते हैं तो पार्टी उनका स्वागत करती है.