मध्यप्रदेश के सरदार सरोवर बांध के विस्थापितों के पुनर्वास के लिए संघर्षरत जानीमानी सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर शनिवार को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में गिरफ्तार कर ली गईं। वह एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए काचरी गांव जा रही थीं। इलाके में तनाव की आशंका के मद्देनजर पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया और वहां जाने से मना किया, मगर व नहीं मानीं। आखिरकार वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और पुलिस लाइंस ले गए।

मेधा दिवंगत सामाजिक कार्यकर्ता बनवारी लाल शर्मा की बरसी के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने जा रही थीं। उन्हें इलाके में भूमि अधिग्रहण के विरोध के कारण गिरफ्तार किए गए कुछ लोगों के परिजनों से भी मिलना था।

इलाहाबाद के जिलाधिकारी संजय कुमार ने शुक्रवार की रात मेधा पाटकर से अपनी यात्रा रद्द कर देने का अनुरोध किया था, क्योंकि आयोजन स्थल पर निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। यह भी पढ़े – मेधा पाटकर यांचा ‘आप’ला रामराम

मेधा को हिरासत में लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के गेस्ट हाउस में रखा गया था, लेकिन शनिवार सुबह वह रैली और धरना स्थल की ओर कूच कर गईं, जिस कारण उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

मेधा पाटकर भूमि अधिग्रहण का विरोध करते गिरफ्तार हुए लोगों की जल्द रिहाई की मांग कर रही हैं।