मध्य प्रदेश के शहडोल संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। तीन दिन के दौरे पर पहुंचे कांग्रेस के कई दिग्गज नेता एवं प्रदेश पदाधिकारियों ने बुधवार को इस संसदीय क्षेत्र के उमरिया, शहडोल तथा अनूपपुर जिलों के विभिन्न विकासखंडों में कार्यकर्ताओं की बैठक ली। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश और प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने इस दौरान भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर हमले बोला। Also Read - क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP से कांग्रेस में वापसी होगी, राहुल गांधी ने आखिर क्यों कही ये बात?

Also Read - राहुल गांधी ने कहा- ज्योतिरादित्य की कांग्रेस में एक हैसियत थी, अब BJP में दर्शकों की तरह पीछे बैठते हैं

उन्होंने कहा, “देश-प्रदेश की भाजपानीत सरकारें लगातार जनता के हितों पर कुठाराघात कर रही हैं। पहले से महंगाई की मार झेल रही गरीब जनता पर लगातार विभिन्न प्रकार के कर लगाए जा रहे हैं, जिससे उनकी आíथक स्थिति और भी दयनीय हो रही है।” Also Read - Budget Session 2021: चुनावी जंग के बीच संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण आज से शुरू, विपक्ष ने खूब किया हंगामा

उन्होंने कहा, “प्रदेश सरकार ने व्यापमं, डीमेट तथा सिहस्थ कुंभ जैसे आयोजनों में करोड़ों-अरबों रुपयों का भ्रष्टाचार कर जो कीíतमान स्थापित किया है, वह इस प्रदेश में पहले कभी नहीं हुआ है। प्रदेश का मुख्यमंत्री विदेशों में घूमने पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है, किन्तु उसे किसानों की चिंता नहीं है। प्रदेश में किसान बेहाल होकर आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं।” यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश: सांप की हत्या करने पर दलित की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या

नेता द्वय ने आरोप लगाया, “नौकरशाह भाजपाइयों के इशारों पर काम कर रहे हैं। गरीबों के बीपीएल कार्ड तो नहीं बने, किन्तु मुख्यमंत्री के परिवार का बीपीएल कार्ड बना है। आदिवासियों को पट्टे नहीं मिले, किन्तु भाजपाइयों को जमीन दिए जाने का सिलसिला बराबर चल रहा है।”

दोनों नेताओं ने स्थानीय कार्यकर्ताओं से एकजुट होकर भाजपा को सबक सिखाने का आह्वान किया और कहा कि कांग्रेस 2018 में पूरे जोश के साथ मैदान में उतरेगी और प्रदेश की इस भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकेगी।

पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया, प्रभारी नेता प्रतिपक्ष मप्र विधानसभा बाला बच्चन के साथ ही महिला कांग्रेस की प्रदेशायक्ष मांडवी चौहान, युवा कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी, भाराछासं के अध्यक्ष विपिन बानखेड़े, विधायक ओमकार मरकाम तथा इंटक नेता आऱ डी़ त्रिपाठी आदि बुधवार को शहडोल संसदीय क्षेत्र के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे। यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश: सहकारी दुकानों पर बेचे जाएंगे पतंजलि के उत्पाद

इन नेताओं ने उमरिया, शहडोल और अनूपपुर जिले के सभी विकासखंडों के ब्लाक, बूथ, सेक्टर प्रभारियों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं की बैठक ली। साथ ही लोकसभा उपचुनाव में पार्टी की रणनीति पर चर्चा की।

ज्ञात हो कि अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित शहडोल संसदीय क्षेत्र से 2014 के चुनाव में भाजपा के दलपत सिंह परस्ते निर्वाचित हुए थे। उनका निधन हो जाने से यह सीट रिक्त हुई है और यहां उपचुनाव होना प्रस्तावित है।