प्रयागराजः आज पावन नगरी प्रयागराज में माघ मेला की शुरुआत हो चुकी है. पौष पूर्णिमा के पर्व पर लगभग 40 लाख श्रद्धालु यहां पहुंचने की उम्मीद है. प्रशासन ने मेले को देखते हुए सरक्षा संबंधी सभी इंतजाम किए हैं. यह माघ मेला 10 जनवरी 2020 से शुरू होकर 21 फरवरी महाशिवरात्रि के पर्व तक चलेगा.

मेले का पहला स्नान आज है जबकि इसका दूसरा पावन स्नान मकर संक्रांति के दिन होगा. माना जा रहा है मकर संक्रांति के कारण यहां उस दिन लगभग 90 लाख श्रद्धालु पहुंच सकते हैं. इस माघ मेले का तीसरा पावन स्नान मौनी आमावस्या को 24 जनवरी को होगा. बसंत पंचमी (30 जनवरी) को चौथा स्नान होगा जबकि पांचवा स्नान माघ पूर्णिमा(9 फरवरी) के दिन होगा. आखिरी स्नान महाशिवरात्रि (21 फरवरी) के दिन होगा, जिसमें 15 से 20 लाख लोग संगम में स्नान करने के लिए आ सकते हैं.

माघ मेले की भीड़ को देखते हुए शहर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है जबकि भारी वाहनों के रूट में भी बदलाव किया गया. दिन के समय भारी वाहनों के शहर में प्रवेश पर रोक लगाई गई है. श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े इसके लिए मेला और पुलिस प्रशासन ने सारी तैयारियां पूरी होने का दावा किया है. मेले के लिए इस बार 5 किलोमीटर लंबा घाट बनाया गया है. श्रद्धालुओं के स्नान के लिए 6 घाटों पर विशेष इंतजाम किए गए हैं. माघ मेले को 3 जोन और 6 सेक्टरों में बांटा गया है.

सुरक्षा के मद्देनजर मेले में 13 थाने, 38 चौकियां, और 13 फायर स्टेशन बनाए गए हैं. सुरक्षा के मद्देनजर एटीएस और एसटीएफ की टीमें भी तैनात रहेंगी. मेले की हर गतिविधि पर 200 सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी. स्नान घाटों पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिहाज से जल पुलिस भी तैनात रहेगी.