संगम नगरी प्रयाग में माघ मेले का आगाज हो गया है, इसके पहले स्नान के लिए कल्पवाली और श्रद्धालु भारी संख्या में इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। उम्मीद के मुताबिक लगभग 50 लाख श्रद्धालु संगम में आस्था की डुबकी लगाएंगे। गौरतलब है कि माघ मेले के स्नान के लिए शुभ लग्न बुधवार शाम 7 बजे से ही शुरू हो गया था इसलिए करीब 2 लाख लोग कल ही स्नान कर चुके है लेकिन अधिकारिक तौर पर पहला स्नान गुरूवार सुबह से शुरू हुआ है।Also Read - इलाहाबाद हाईकोर्ट ने YES Bank को लगाई फटकार, Dish TV मामले में दखल देने से किया इनकार

क्या है कल्पवास की मान्यता: Also Read - Narendra Giri Death Case: CBI ने आनंद गिरि समेत तीन के खिलाफ आरोप पत्र किया दाखिल

माना जाता है कि माघ माह में प्रयाग में लोग ना सिर्फ कल्पवास करते हैं, बल्कि 33 करोड़ देवी–देवता विविध स्वरूपों में मौजूद रहते हैं। वे किसी न किसी रूप में कल्पवास करने वाले साधकों को दर्शन देते हैं। इसी आस्था के वशीभूत सनातन मतावलंबी घर-गृहस्थी, मोह-माया से दूर रहते हुए महीने भर धार्मिक कार्यो में लीन रहते हैं। भजन, पूजन, व्रत उनके जीवन का मुख्य ध्येय बन जाता है। Also Read - चंदौली में पटरी से उतरी ट्रेन, कई ट्रेनों के रूट डायवर्ट किए गए; देखें कौन-कौन ट्रेनें हो सकती हैं प्रभावित

माघ मेले के दौरान श्रद्धालुओं को संगम नगरी लाने और वापस जाने के लिए उत्तर मध्य रेलवे 10 अतिरिक्ति ट्रेनें चलाएगा। डीआरएम इलाहाबाद संजय कुमार पंकज ने बताया कि ट्रेनों का संचालन गुरुवार से किया जाएगा। मेले के दौरान राजधानी को छोड़कर अन्य सभी ट्रेनें इलाहाबाद के आसपास के जिलों के स्टेशनों पर रोकी जाएंगी।
यह भी पढ़ें: सोमवार को भगवान शिव के इस मंत्र का जप करने से मिलेगा मनचाहा वरदान

आपको बता दें कि इलाहाबाद से मंडुवाडीह के बीच सात ट्रेनों का संचालन होगा। भटनी के लिए विशेष ट्रेनें 27 जनवरी को चलाई जाएंगी। मेले में आरक्षण काउंटर भी बनाया गया है। ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान की डिजिटल सूचना भी मेले में दी जाएगी।

वहीं माघ मेले के लिए रोडवेज भी दो हजार अतिरिक्त बसें चलाएगा। मौनी अमावस्या पर यह संख्या ढाई हजार के करीब पहुंच जाएगी। क्षेत्रीय अधिकारी हरिश्चंद्र यादव ने बताया कि पौष पूर्णिमा से ही बसों का संचालन शुरू हो जाएगा। मेला स्थल पर एक विशेष रिजर्वेशन कम इनक्वायरी काउंटर भी खोला है। सिविल लाइंस, जीरो रोड, लीडर रोड और प्रयाग बस स्टैंड से बसों का संचालन होगा।