मुंबई. महाराष्ट्र में जातीय हिंसा के दौर के बीच मुंबई में जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद के कार्यक्रम की मंजूरी को पुलिस ने रद्द कर दिया है. पुलिस ने आयोजकों को नोटिस जारी कर इसपर रोक लगा दी है. इस सभा का आयोजन छात्र भारती सभा कर रही थी लेकिन भीमा कोरेगांव हिंसा को देखते हुए पुलिस ने इसे मंजूरी देने से इनकार कर दिया है. पुलिस ने छात्र भारती के पदाधिकारियों को हिरासत में ले लिया है. 

Maharashtra: Normalcy restored in Mumbai after protests over Bhima Koregaon Violence in the state yesterday | महाराष्ट्रः हालात हो रहे सामान्य, अब तक 16 पर एफआईआर, 300 से ज्यादा हिरासत में

Maharashtra: Normalcy restored in Mumbai after protests over Bhima Koregaon Violence in the state yesterday | महाराष्ट्रः हालात हो रहे सामान्य, अब तक 16 पर एफआईआर, 300 से ज्यादा हिरासत में

छात्र भारती के उपाध्यत्र सागर भालेराव ने बताया कि उन्होंने भाईदास हॉल को कार्यक्रम के लिए बुक कराया था. इसी हॉल में ऑल इंडिया नेशनल स्टूडेंट्स समिट होना था लेकिन अब हमें अंदर जाने भी नहीं दिया जा रहा है. इसके पीछे पुलिस ने जो वजह बताई है वह उमर खालिद और जिग्नेश मेवानी को लेकर बीते दिनों से आ रही खबरें हैं.

पुलिस ने आयोजन स्थल के आसपास धारा 149 लागू कर दी है. इस धारा के लागू होने से 5 से अधिक लोग एक जगह इकट्ठा नहीं हो सकेंगे. आयोजकों ने पुलिस के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. प्रदर्शन में छात्र नेता भी मौजूद हैं.‏ पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को स्थल से हटा दिया है.

आयोजक रोहित ढाले ने कहा कि हम उमर और जिग्नेश से सड़क पर भाषण देने को कहेंगे अगर उन्हें कार्यक्रम नहीं करने दिया गया. पुलिस ने ऐहतियाती तौर पर छात्रों को हिरासत में भी लिया है. वहीं, भीमा कोरेगांव हिंसा को लेकर जिग्नेश और उमर के खिलाफ धारा 153(A), 505 और 117 के तहत विश्रामबाग पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है.