नई दिल्ली: पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को लातूर में 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के अभियान की शुरुआत की, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाया. राहुल गांधी के भाषण में नौकरियां और प्रधानमंत्री के हालिया अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के मुलाकात शामिल रही. राहुल गांधी ने रविवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मीडिया मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका रहे है.

महाराष्ट्र में लातूर जिले के औसा में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा कि जब युवा नौकरी मांगते है तो सरकार उन्हें, इसरो के हालिया चंद्र अभियान, चंद्रयान -2 के स्पष्ट संदर्भ में, चांद देखने के लिए कहती है. राहुल गांधी ने कहा, ”इसरो की स्थापना कांग्रेस ने की थी. रॉकेट दो दिन में वहां नहीं गया, इसमें सालों लग गए, नरेंद्र मोदी जी इसका फायदा उठा रहे हैं. चांद पर रॉकेट भेजने से देश के युवाओं का भरण पोषण नहीं होगा.”

उन्होंने यह भी जानकारी देने को कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ हाल में हुई बैठक के दौरान मोदी ने क्या उनसे 2017 डोकलाम गतिरोध के बारे में पूछा. वह 2017 में भारतीय क्षेत्र में चीनी सैनिकों की कथित घुसपैठ का जिक्र कर रहे थे. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने ‘‘15 अमीर लोगों’’ का 5.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया.

गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘मीडिया, मोदी और शाह का काम मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना है. किसानों के संकट और नौकरियों की कमी पर मीडिया चुप है. मीडिया अमीर लोगों की कर्ज माफी पर भी चुप्पी साधे है.’’ उन्होंने कहा कि नोटबंदी और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी)का उद्देश्य गरीबों की जेबों से पैसा निकाल कर अमीरों को देना था. गांधी ने कहा, ‘‘जब युवा नौकरियां मांगते है तो सरकार उन्हें चांद देखने के लिए कहती है. सरकार अनुच्छेद 370, चांद की बात करती है लेकिन देश की समस्याओं पर चुप है.’’

(इनपुट भाषा)