अयोध्या: सरकार के 100 दिन पूरे होने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आज अयोध्या जाएंगे. वह रामलला के दरबार में माथा टेकेंगे, लेकिन उद्धव ठाकरे न तो सरयू आरती करेंगे न ही किसी प्रकार की जनसभा होगी. कोरोना वायरस के खतरे को लेकर दोनों कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं. शिवसेना प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री भी आह्वान कर चुके हैं, गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से एडवाइजरी जारी हो चुकी है, यही नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल चुके हैं. कोरोना वायरस को देखते हुए सुझाव है कि किसी भी जगह सार्वजनिक स्थल पर भीड़ इकट्ठा होने की स्थिति से बचा जाए. संजय राउत ने कहा कि उन्होंने खुद उद्धव ठाकरे से बात की जिसके बाद सरयू आरती को स्थगित करने का फैसला लिया गया है. Also Read - लॉकडाउन के दौरान 'गंभीर चूक', केंद्र ने दिल्ली सरकार के दो अधिकारियों को किया निलंबित

पल-पल बदल रहा है मध्य प्रदेश का सियासी माहौल, अब भाजपा के इस विधायक ने कमलनाथ को समर्थन देने की बात कही Also Read - बोल्ड तस्वीरें देख मचल जाते हैं फैंस, कोरोना संकट के समय गरीबों में दूध बांट रही है ये एक्ट्रेस

संजय राउत ने बताया कि सरकार की तरफ से जो गाइडलाइन मिली है, उसका अनुपालन होगा. सरयू आरती स्थगित कर दी गई है. कहा कि शिवसेना क करीब दो हजार कार्यकर्ता व सांसद, विधायक भी अयोध्या पहुंच रहे हैं. उन्होंने बताया कि उद्धव ठाकरे राममंदिर निर्माण के लिए कुछ बड़ा ऐलान कर सकते हैं. राउत ने अपनी पूर्व की मांग को दोहराते हुए कहा कि अयोध्या में सभी पार्टियों को राम मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहिए. कांग्रेसी भी करें व अन्य दल भी करें, ओवैसी भी आएं और रामलला के दर्शन करें, ममता बनर्जी भी अयोध्या आएं और रामलला के दर्शन करें. उनका मानना है कि रामलला का दर्शन एवं मंदिर निर्माण धार्मिक नहीं, राष्ट्रीय कर्तव्य है. Also Read - COVID-19: सीमा सील होने के बावजूद पैदल यात्रा जारी, घर जाने की लगी होड़

एक सवाल के जवाब में संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में गठबंधन की जो सरकार चल रही, वह पूरे पांच साल चलेगी. साथ ही जोड़ा कि यदि उद्घव की भाषा में कहें तो महाराष्ट्र में यह व्यवस्था और सरकार पूरे 15 साल चलेगी. उन्होंने भाजपा से गठबंधन तोड़ कांग्रेस और राकांपा के साथ गठबंधन के चलते उद्घव के आगमन का विरोध करने वालों पर कहा कि हमें विरोध नहीं दिखता, पर डेमोक्रेसी है और ऐसे में जिसे विरोध करना है करे. राउत ने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शिवसेना प्रमुख उद्घव ठाकरे विशेष विमान से पत्नी रश्मि ठाकरे एवं बेटे आदित्य ठाकरे के साथ शनिवार को दो बजे लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर उतरेंगे और वहां से सड़क मार्ग से रामनगरी पहुंचेंगे. रामलला के दर्शन का समय सायं 4:30 बजे प्रस्तावित है.