पीएम मोदी की सरकार ने वीआईपी संस्कृति समाप्त करने की दिशा में 1 मई से सभी प्रकार के सरकारी वाहनों पर लाल बत्ती लगाने पर पाबंदी लगा दी है. कैबिनेट में जैसे ही इस पर मुहर लगा उसके पीएम मोदी के सभी नेता हरकत में आ गए और उन्होंने अपनी गाड़ी से लालबत्ती को हटा दिया. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी गाड़ी से लाल बत्ती हटा दी है.

मोदी सरकार के इस फैसले के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज अपनी सरकारी कार से लालबत्ती हटा दी. देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा, महाराष्ट्र वीआईपी वाहनों पर लगने वाली लालबत्ती का प्रयोग बंद करके वीआईपी संस्कृति समाप्त करने की दिशा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कदम का स्वागत करता है. हमारे लोकतंत्र को मजबूत करने वाले इस ऐतिहासिक कदम के समर्थन में मैंने अपनी कार में लालबत्ती का प्रयोग बंद कर दिया है. यह भी पढ़ें: लालबत्ती हटाने के आदेश से बिहार के मंत्रियों का ‘मूड खराब’

 

बता दें राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पीएम मोदी की पहल पर केंद्र सरकार में लिए गए मंत्रियों और अधिकारियों के वाहनों से लालबत्ती हटाने के फैसले का स्वागत किया है और राजस्थान प्रदेश में भी इस निर्णय को तुरंत प्रभाव से लागू कर दिया है. सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, नितिन गडकरी समेत कई बड़े नेताओं ने अपनी गाड़ी से खुद ही लाल बत्ती हटा दी है. बता दें इस अहम फैसले के बाद पुलिस, एंबुलेंस व फायर ब्रिगेड जैसी इमरजेंसी गाड़ियों पर ही नीली बत्ती के इस्तेमाल की छूट होगी.