मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस एक नए विवाद में फसते नज़र आ रहे है। सुनने में आ रही बात के मुताबिक जिस सीएम रिलीफ फंड में आम लोगो कि सहायता राशि के रूप में जमा कर रहे है, उसका इस्तेमाल नियमों को ताक पर रख कर बैंकाक में डांस देखने पर खर्च करने का सनसनीखेज कारनामा सामने आया है। लोगो को यह बात इस लिए अजीब लगी है, क्योंकि महाराष्ट्र में सूखे और किसानो की आत्महत्या वाले राज्य में अगर ऐसे ही पैसे का उपयोग चलता रहा तोह किसान किस पर करेंगे भरोसा जब की देखा जाए तो यह पैसे किसानो के है जो की उनके लिए ही जमा किया गए थे।

आपको बता दे कि यह मामला तब सामने आया जब आरटीआई (राइट टू इनफार्मेशन) कार्यकर्ता अनिल गलगली ने सीएम रिलीफ फंड विभाग से सचिवालय जिमखाना जो की मुंबई में है वाहा जाकर सीएम रिलीफ फंड से किए हुए अर्थसहाय की जानकारी मांगी जिसके बाद यह सारा मामला सामने आया। 25 अगस्त 2015 को सचिवालय जिमखाना,मुंबई ने सरकारी कर्मचारियों को बैंकॉक-थाईलैंड में आगामी 26 से 30 दिसंबर के दौरान आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए स्पेशल केस के तौर 8 लाख की आर्थिक मदद करने का अनुरोध किया था। सीएम देवेंद्र फडनवीस ने स्पेशल केस बनाकर प्रस्ताव पेश करने का आदेश सीएम सचिवालय/ फंड विभाग को दिया और 11 सितंबर को रु 8 लाख रुपए सीएम रिलीफ फंड से सचिवालय जिमखाना, मुंबई के अकाउंट में जमा करा दिए गए। यह भी पढ़ें: सांबा सेक्टर में पाकिस्‍तान की फ़ायरिंग, एक की मौत और दो घायल

दरअसल एक निजी संस्था अखिल भारतीय सांस्कृतिक संघ और ग्लोबल कौंसिल ऑफ आर्ट एंड कल्चर द्वारा अक्षरा थिएटर, बैंकॉक (थाईलैंड) में आयोजित डांस में लग भग 15 कर्मचारी जाने वाले है यह बात भी सामने आई है। आपको बता दे की 8 लाख रुपए आखिर कहा खर्च किये जा रहे हैं। कुल 15 लोग जा रहे है जिस में 1 आदमी का खर्चा 50 हज़ार रुपए है इश्के मुताबिक 15 के हिसाब से 7 लाख 50 हज़ार रुपए और ऊपर के खर्चे के लिए कुल 50 हज़ार रुपए रखे गए है। वही अनिल गलगली कहना है कि यह सीधे तौर पर दिख रहा है कि पैसों का दुरुप्रयोग हो रहा है।