नई दिल्ली: महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackarey) ने अयोध्या (Ayodhya) पहुंच गए हैं. उद्धव ठाकरे ने भगवान राम (Lord Ram) के दर्शन किए. यहां पहुंचने के बाद उद्धव ठाकरे ने बड़ा ऐलान किया है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरी सरकार की ओर से नहीं बल्कि मैं व्यक्तिगत तौर अपने ट्रस्ट की ओर से ऐलान करना चाहता हूं कि मैं राम मंदिर के लिए एक करोड़ रुपए देने के लिए तैयार हूं. उद्धव ठाकरे ने कहा कि ‘मैं राम लला के दर्शन करने आया हूं. मेरे साथ मेरी भगवा फैमिली के काफी लोग हैं.’ उद्धव ने कहा कि अयोध्या मैं तीसरी बार आया हूं. डेढ़ साल में ये तीसरा दौरा है. Also Read - Coronavirus को लेकर राम गोपाल वर्मा ने किया भद्दा मज़ाक, यूजर्स बोले- थोड़ी तो शरम करो, पुलिस लेगी एक्शन

उद्धव ने कहा कि मैं बीजेपी (BJP) से अलग हुआ हूं, लेकिन हिंदुत्व से अलग नहीं हुआ हूं. बीजेपी का मतलब हिंदुत्व नहीं है. हिंदुत्व अलग है. और बीजेपी अलग है. उद्धव के साथ शिवसेना नेता संजय राउत और आदित्य ठाकरे भी साथ आए हुए हैं.

वहीं, उद्धव ठाकरे के पहुंचने पर शिवसेना (Shivsena) ने भी इस यात्रा के जरिये बीजेपी पर निशाना साधा. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के अपनी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर अयोध्या जाने के मौके पर पार्टी ने कहा कि उसकी विचारधारा में कोई बदलाव नहीं आया है. अपने पूर्व सहयोगी दल भाजपा पर कटाक्ष करते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि भगवान राम और हिंदुत्व किसी एक राजनीतिक दल की संपत्ति नहीं है.

शिवसेना ने कहा कि राकांपा और कांग्रेस वाली महा विकास अघाड़ी सरकार ने 100 दिन पूरे कर लिए हैं जो उन लोगों के लिए दुख की बात है जिन्होंने दावा किया था कि यह नयी गठबंधन सरकार 100 घंटे से ज्यादा नहीं चलेगी. संपादकीय में कहा गया है, ‘‘जिनकी सरकार 80 घंटे ही चल पाई वे दावा कर रहे थे कि ठाकरे सरकार 100 घंटे तक भी नहीं चलेगी. लेकिन इस एमवीए सरकार ने न केवल उन्नति की बल्कि अपने प्रदर्शन से लोगों के मन में भरोसा भी कायम किया.’’

संपादकीय में कहा गया है कि ठाकरे की अयोध्या यात्रा को लेकर उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने कई सवाल खड़े किए. इसमें कहा गया है, ‘‘कोई भी सरकार का समर्थन कर सकता है लेकिन उद्धव ठाकरे और शिवसेना बाहर तथा अंदर से एक जैसे ही रहेंगे. विचारधारा में कोई बदलाव नहीं आया है. भगवान श्री राम और हिंदुतव किसी एक पार्टी की संपत्ति नहीं है.’’