मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य के किसानों के लिए ठोस कदम उठायेगी और ऐसा माहौल बनाने का प्रयास करेगी कि कोई भी भयभीत महसूस नहीं करे. कुछ घंटे पहले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले ठाकरे ने दक्षिण मुंबई के सहयाद्री गेस्ट हाउस में कैबिनेट की पहली बैठक की अध्यक्षता की.

 

उन्होंने कहा कि कैबिनेट के पहले फैसले में छत्रपति शिवाजी महाराज की राजधानी रायगढ़ किले के पुनरूद्धार के लिए 20 करोड़ रुपये की धनराशि आवंटित करने पर सहमति बनी है. बैठक के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि यदि हम वास्तविकता जानेंगे तो हम अच्छा काम कर सकते हैं. हमने जानकारी मांगी है. किसानों को सिवाए आश्वासन के कुछ नहीं मिला. हम किसानों की ठोस मदद करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हम राज्य में ऐसा माहौल सुनिश्चित करना चाहते हैं जहां कोई भी आतंकित महसूस नहीं करेगा. ठाकरे के मीडिया से बात करते समय उनके साथ मंत्रिमंडल के सहयोगी छगन भुजबल, जयंत पाटिल, बालासाहेब थोराट और नितिन राउत भी थे.


उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री के तौर पर मंत्रिमंडल की पहली बैठक की
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार शाम पद की शपथ लेने के बाद सहयाद्री गेस्ट हाउस में अपने मंत्रिमंडल की पहली बैठक की. शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, कांग्रेस के मंत्री बालासाहेब थोराट और नितिन राउत और राकांपा के मंत्री छगन भुजबल और जयंत पाटिल दक्षिण मुंबई में बैठक के आयोजन स्थल पर आते हुए नजर आए. उद्धव ठाकरे तीनों दलों के ‘महाराष्ट्र विकास आघाड़ी’ सरकार का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.


राज्यपाल ने ठाकरे से तीन दिसंबर तक बहुमत साबित करने को कहा
शिवाजी पार्क में बृहस्पतिवार शाम शपथग्रहण समारोह में तीनों दलों में प्रत्येक से दो-दो नेताओं ने मंत्री के तौर पर शपथ ली. सहयाद्री गेस्ट हाउस आने वाले अन्य नेताओं में राकांपा के अजित पवार और दिलीप वाल्से पाटिल, शिवसेना के सांसद राजन विचारे, अनिल देसाई और श्रीकांत शिंदे तथा शिवसेना के विधानपार्षद अनिल परब थे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कैबिनेट की पहली बैठक में पूर्णकालिक विधानसभाध्यक्ष चुनने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने पर फैसला होने की संभावना है. राज्यपाल बी के कोश्यारी ने ठाकरे से तीन दिसंबर तक बहुमत साबित करने को कहा है.