नई दिल्लीः महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के कुछ ही दिन बचे हुए हैं ऐसे में पार्टी जोरों से चुनावी रणनीतियों में जुटी हुई है. जीत के लिए तैयारियों में लगी हुई शिवसेना को महाराष्ट्र में एक बड़ा झटका लगा है. पार्टी के 26 पार्षदों और 300 कर्मचारियों ने इस्तीफा दे दिया है. जानकारी के अनुसार ये सभी पार्षद और कार्यकर्ता कल्याण(पूर्वी) विधानसभा क्षेत्र के हैं.

माना जा रहा है कि इन सभी लोगों ने स्थानीय नेता धनंजय बोडारे के समर्थन में उद्धव ठाकरे को सौपा गया. इन लोगों का कहना है कि वे चाहते थे कि विधानसभा की इस सीट से किसी शिवसेना के ही नेता को टिकट मिलना चाहिए था लेकिन अब सीट के बटवारे में यह सीट भाजपा के पाले में चली गई है. स्थानीय लोग इस बात से भी नाराज हैं कि उन्हें भाजपा नेता गणपत गायकवाड़ का समर्थन करने के लिए कहा गया है.

शिवसेना-भाजपा पर शरद पवार ने किया पलटवार, कहा- अभी तो मैं जवान हूं, आपको हराकर करूंगा आराम

आपको बता दें कि कांग्रेस और एनसीपी छोड़कर भाजपा और शिवसेना में शामिल हुए कई नेताओं को पार्टी की तरफ से टिकट दिया गया है जिसके कारण कई स्थानीय नेताओं का इस बार के विधानसभा चुनाव में टिकट कट गया है और इस बात से नेता और उनके समर्थक लगातार नाराज चल रहे हैं.

इससे पहले नाराज नेताओं और समर्थकों को मनाने के लिए शिवसेना के विरष्ठ नेताओं ने एक मीटिंग बुलाई थी और उनसे भाजपा नेता को समर्थन देने के लिए भी कहा था. इस मीटिंग के बाद स्थानीय नेताओं ने धनंजय बोडारे के समर्थन में सामूहिक तौर पर इस्तीफा दे दिया.

आपको बता दें कि 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होगा और 24 अक्टूबर को इसके नतीजे आएंगे. अगर हम सीटों के बटवारे की बात करें तो भाजपा 150 सीटों पर और शिवसेना 124 सीटों जबकि 14 सीटों पर अन्य सहयोगी दल लड़ेंगे.