पुणे: महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री चन्द्रकांत पाटिल ने सोमवार को कहा कि सरकार ने उन किसानों की सहायता के लिए 10,000 करोड़ रुपए की राशि को मंजूरी दी है, जिन किसानों की फसलें बेमौसम बारिश से प्रभावित हुई हैं. यह सहायता क्षति के प्रारंभिक मूल्यांकन पर आधारित है और बाकी सहायता भी बाद में जारी की जायेंगी. उन्होंने कहा कि सरकार की बीमा योजना के दायरे में नहीं आने वाले किसानों को भी राहत मिलेगी.

पाटिल ने कहा, ‘‘हम क्षति के पूरे आकलन के बाद जल्द ही शेष सहायता जारी करेंगे.’’ बारिश से प्रभावित पुणे जिले के पुरंदर, बारामती और इंदापुर तालुकाओं की स्थिति की समीक्षा के संदर्भ में हुई बैठक में हिस्सा लेने के बाद मंत्री ने संवाददाताओं से बातचीत में यह जानकारी दी.

महाराष्‍ट्र में सत्‍ता की जंग: ‘मातोश्री’ के बाहर लगे आदित्‍य ठाकरे के पोस्‍टर, मेरा विधायक, मेरा मुख्‍यमंत्री

पाटिल ने कहा, ‘‘हम प्रभावित किसानों से विभिन्न प्रकार की जानकारियां एकत्र कर रहे हैं. हमें यह समझना होगा कि बीमा कंपनियों से राहत पाने के लिए फसलों के संदर्भ में आकलन किया जाना जरूरी है.’’ उन्होंने कहा कि राज्य सरकार फसल बीमा के लिए लगभग 75 प्रतिशत प्रीमियम का भुगतान कर रही है. प्रारंभिक मूल्यांकन के अनुसार, कम से कम आधा दर्जन जिलों के 325 तालुकों में 54.22 लाख हेक्टेयर में लगी फसलों का नुकसान हुआ है. क्षतिग्रस्त फसलों में ज्वार, धान, कपास और सोयाबीन शामिल हैं.