मुंबई: महाराष्ट्र सरकार में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को कहा कि इस मार्च के अंत तक राज्य में 6,500 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोले जाएंगे. उन्होंने कहा कि सभी उप केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और सार्वजनिक प्राथमिक केंद्रों को चरणबद्ध तरीके से ‘‘आयोग्य वर्धनी केंद्रों’’ में बदला जाएगा, जहां लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. स्वास्थ्य मंत्री ने पत्रकारों से कहा, ‘‘महाराष्ट्र सरकार का जोर प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा को मजबूत करने पर है.

उन्होंने बताया कि करीब 6500 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इस साल मार्च के अंत तक स्थापित किए जाएंगे और इनमें आयुर्वेद, यूनानी और नर्सिंग से पढ़ाई करने वालों को समुदाय स्वास्थ्य अधिकारी के तौर पर तैनात किया जाएगा. वहीं कुछ दिन पहले ही महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने शनिवार को कहा था कि मुंबई के गैर-आवासीय क्षेत्रों में दुकानें, मॉल और रेस्तरां 26 जनवरी से चौबीसों घंटे खुले रह सकते हैं. यह वैकल्पिक है, इसे अनिवार्य नहीं बनाया जाएगा.

CM के बयान के बाद शिरडी में बवाल, नाराज जनता ने शिरडी बंद का किया ऐलान

लंदन और मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नाइटलाइफ का उदाहरण देते हुए, ठाकरे ने कहा, मुंबई को भी लोगों को रात में वैसी सुविधा देने से पीछे नहीं हटना चाहिए. महानगर में सेवाएं 24×7 जारी रहनी चाहिए. यहां पत्रकारों से बात करते हुए, उन्होंने यह भी कहा कि नाइटलाइफ को केवल शराब पीने के साथ जोड़ना गलत है.

उन्होंने कहा, ‘‘मुंबई 24×7 काम करता है. यदि ऑनलाइन खरीदारी 24 घंटे खुली रह सकती है, तो रात में दुकानों और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को बंद क्यों रखा जाना चाहिए. दुकानों और मॉलों को रात में खोलना अनिवार्य नहीं है. यह उनपर निर्भर है, यदि वे दुकानों को खोले रखना चाहते हैं. कोई नियम नहीं बदला गया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम आबकारी मानदंडों के साथ छेड़छाड़ नहीं कर रहे हैं.’’