Maharashtra Mla’s Take oath at the Special Assembly Session: महाराष्ट्र में 288 विधायकों को शपथ दिलाने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार सुबह आरंभ हो गया. प्रोटेम स्पीकर कालीदास कोलांबकर विधायकों को शपथ दिला रहे हैं. अजित पवार, छगन भुजबल, अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चव्हाण पहले शपथ लेने वालों में शामिल रहे. सदस्यों को वरिष्ठता क्रम के आधार पर शपथ दिलाई जा रही है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कोलांबकर को मंगलवार शाम को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया था.

विधानसभा में आज शपथ लेने से पहले एनसीपी विधायक और शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने भी नए विधायकों का स्वागत किया. सुप्रिया ने एनसीपी के सदस्यों समेत दूसरी पार्टी के सदस्यों का भी स्वागत किया. ख़ास बात ये रही कि शरद पवार (Sharad Pawar) की बेटी सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने विधानसभा पहुंचे अजित पवार (Ajit Pawar) का भी जोरदार स्वागत किया. सुप्रिया ने अजित पवार को नमस्ते किया. गले लगकर उनके पैर छुए. बता दें कि सुप्रिया सुले अजित पवार की चचेरी बहन हैं. बीजेपी को समर्थन देकर सरकार में तीन दिन के लिए डिप्टी सीएम बनने वाले अजित पवार के इस कदम से सुप्रिया आहत थीं. उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा था कि पार्टी और परिवार टूट गया है. अब किस पर भरोसा किया जा सकता है.

मालूम हो कि नव निर्वाचित सदस्य राज्य में चल रहे नाटकीय घटनाक्रमों के कारण विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक महीने बाद भी शपथ नहीं ले पाए थे. किसी भी राजनीतिक दल के सरकार न बना पाने के कारण राज्य में 12 नवंबर से 23 नवंबर तक राष्ट्रपति शासन लागू रहा.

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कोश्यारी से प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने और यह सुनिश्चित करने को कहा था कि सदन के सभी निर्वाचित सदस्यों को बुधवार शाम पांच बजे तक शपथ दिला दी जाए. राकांपा नेता अजित पवार के समर्थन से 23 नवंबर को बनी भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार मंगलवार दोपहर को तब गिर गयी जब पवार ने उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और फिर उसके बाद देवेंद्र फडणवीस को भी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.

शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के ‘महाविकास अघाडी’ ने सोमवार को 162 विधायकों का समर्थन होने का दावा करते हुए राज्यपाल को एक पत्र सौंपा. राकांपा ने घोषणा की कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे. वह बृहस्पतिवार शाम को दादर में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इस स्थान पर उनकी पार्टी हर साल पारंपरिक दशहरा रैली का आयोजन करती है.

महाराष्ट्र की राजनीति में मंगलवार का दिन काफी दिलचस्प रहा था. मंगलवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने इस्तीफा दे दिया और फिर आखिर में कांग्रेस-NCP-शिवसेना गठबंधन ने उद्धव ठाकरे को अपने गठबंधन का नेता चुन लिया. शिवसेना के एक नेता ने बताया कि उद्धव ठाकरे 28 नवंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इससे पहले राकांपा प्रमुख शरद पवार ने तीनों दलों की संयुक्त बैठक में घोषणा की थी कि नयी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह एक दिसंबर को होगा, लेकिन उद्धव के राज्यपाल से मिलने के बाद कार्यक्रम में बदलाव किया गया.