महाराष्ट्र के एनसीपी नेता और पूर्व डिप्टी सीएम छगन भुजबल की इन दिनों नीदें उड़ी हुई है। महाराष्ट्र सदन घोटाले में नाम सामने आने पर एंटी करप्शन ब्योरो की टीम ने भुजबल के ठिकानों पर छापे मारी की। एंटी करप्शन ब्योरो की टीम के होश तब उड़ गए जब उन्होने नाशिक के मुंबई-आगरा रोड स्थित भुजबल के इस फार्म पर पहुंची।

एंटी करप्शन ब्योरो की टीम इस फार्म को देख कर दंग रह गई और वह यह नहीं समझ पाई की यह फार्म हाऊस है या बंगला या फिर कोई महल। इस बंगले के अंदर हर एक चीज बेशकीमती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसमें लगी छोटी से छोटी चीज भी लाखों रुपयों की बताई जा रही है। लेकिन एंटी करप्शन ब्योरो की टीम इन चीजों की सही कीमतों का आंकलन करने के लिये असंमंजस में है। यह भी पढ़ें: NCP नेता छगन भुजबल की 110 करोड़ की प्रॉपर्टी हो चुकी है जब्त

ये है इस बंगले की खासियत-

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

जो कि 10 एकड़ में फैला भुजबल का यह फार्म हाऊस बंगला नहीं एक महल है। इस महल में राजा-महाराजाओं के महलों जैसी फैसिलिटी हैं। माना जा रहा है कि यहां मौजूद एक-एक चीज लाख रुपए की होगी।

नाशिक के मुंबई-आगरा रोड पर स्थित इस फुल एसी पैलेस में 25 कमरे, एक स्वीमिंग पूल, एक टेनिस कोर्ट, जिम, लाइब्रेरी, किचन, मंदिर समेत और कई खासियतें हैं।

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

पेशवा कालीन शिल्पकृति के खंभे, पुरातन वस्तुएं, दरवाजे व खिड़कियाें पर दुर्लभ सजावट।

सागवान की लकड़ी की कुर्सियां, भव्य बैठक हॉल, अत्याधुनिक देशी-विदेशी झूमर, दुलर्भ सीलिंग फैन। यह भी पढ़ें: मनी लॉन्डरिंग मामले में जेल में बंद छगन भुजबल को सीने में दर्द की शिकायत के अस्पताल में भर्ती कराया गया

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

खास यह है कि, दुर्लभ वस्तुओं को देखकर ऐसा लगता है जैसे किसी म्यूजियम में पहुंच गए हों।

यह सभी चीजें कहां से मंगाई गई हैं , इनकी कीमत क्या होगी? जांच अफसर भी इस सवाल का जवाब नहीं ढूंढ़ सके हैं।

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

इस पूरे पैलेस की कीमत बताने में एंटी करप्शन ब्यूरो के अफसरों को काफी मुश्किलें आ रही हैं।

गौरतलब है कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता किरिट सोमैया के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। आरोप है कि दिल्ली स्थित महाराष्ट्र सदन क कंस्ट्रक्शन के लिये नियमों का उल्लघन करते हुए ठेके आवंटित किये गए। यह भी पढ़ें: एनसीपी के सीनियर नेता छगन भुजबल के भतीजे समीर को प्रवर्तन निदेशालय ने किया अरेस्ट

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

आरोप के मुताबिक, दिल्ली में महाराष्ट्र सदन के कंस्ट्रक्शन के लिए 52 करोड़ रुपए का कॉन्ट्रैक्ट 152 करोड़ में दिया गया। भुजबल पर अपने करीबियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा। कंस्ट्रक्शन का ठेका पहले एक फर्म को दिया गया। लेकिन बाद में सब-कॉन्ट्रैक्ट छगन भुजबल से जुड़ी कंपनियों को दे दिए गए।

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

फोटो क्रेडिट- bhaskar.com

आपको और अधिक जानकारी के लिये बता दें कि एनसीपी नेता छगन भुजबल कभी उधार पैसे लेकर सब्जियां बेचा करते थे, आज उन पर 800 करोड़ रुपए का घोटाला करने का आरोप है।