‘ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो. ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो.’ महात्मा गांधी की ये प्रेरक बातें जहां जिंदगी में सुकून देती हैं वहीं कुछ ऐसी भी बातें हैं जिन्हें जानने के लिए लोग हमेशा जिज्ञासु रहते हैं. इंडिया.कॉम ने गांधी दर्शन जाकर वहां जानने की कोशिश की ऐसे कौन से सवाल हैं जो गांधी के बारे में जानने की उत्सुकता बनाए रखते हैं.

gandhi5
प्रवेश द्वार से ही एक अजीब सी सुगंध थी चारों ओर. अपनी तरफ खींचती. शांत. सुकूनमय. मन कर रहा था जहन में भर लूं इसे हमेशा के लिए. ये सुगंध ही माध्यम थी वापस उस दौर में ले जाने के लिए. सबकुछ रूक सा गया था. कुछ देर के लिए. सामने थी ब्लैक एंड व्हाइट गांधी जी की मुस्कुराती हुई तस्वीर. उनकी जिंदगी के हर सुख-दुख, संघर्ष की कहानी को बयां करती तस्वीरें. मध्यम संगीत के बीच एक यात्रा की तरह हर पड़ाव को दिखाती तस्वीरें अपने आप में हर कहानी को कह रही थीं.

gandhi7

गांधी का बचपन. यौवन. शादी. बच्चे और निरंतर इन सबके बीच चलता संघर्ष. अंग्रेजों की नीतियों का विरोध. आंदोलन. जेल. ..और फिर चुप्पी साधे दीवार का एक कोना. जहां जाकर सबकुछ खत्म हो जाता था. शांत. भावुक कर देने वाला. आंखों में पानी ला देने वाला. सीने को भेद कर लगी गोली. खून से सनी गांधी की शाल. शव यात्रा के दौरान अंतिम दर्शन करने के लिए उमड़ती भीड़. अस्थि कलश. अंत में कुछ बचा था तो वो थी स्मृति.

gandhi

बापू की कई यादों को समटेते गांधी दर्शन में हमने वहां मौजूद कई लोगों से बात की और ये जानने की कोशिश की. वहां जब विदेशी सैलानी और अन्य लोग संग्रहालय आते हैं तो किस तरह के सवाल करते हैं. संजय कुमार जो वहां आने वाले लोगों को गांधी के बारे में जानकारी देते हैं, उन्होंने बताया, हर दिन हज़ार से भी ज्यादा लोग संग्रहालय आते हैं और शनिवार-रविवार यह संख्या और बढ़ जाती है. कई तरह के सवाल हैं जो लोग उनसे करते हैं. मसलन, जोकि अक्सर आपके जहन में भी आया होगा.

gandhi8

बापू को किसने और क्यों मारा?
संजय ने बताया, लोग अक्सर ये सवाल करते हैं बापू को किसने मारा. कई लोग अभी भी इस बात से अनजान हैं. वो इस बात को सुनकर हैरान हो जाते हैं कि हमेशा सत्य और शांति की बात करने वाले गांधी को कोई गोली से कैसे मार सकता है. खून से सनी गांधी की शाल देखकर कई लोग भावुक भी हो जाते हैं. लोगों को ये बात भी परेशान करती है कि उनको जान से मारने वाला और कोई नहीं बल्कि एक हिंदू और उनका ही फॉलोअर था.

gandhi3

बापू की पत्नी ‘बा’ कैसी महिला थी?
लोग ये बापू के अलावा उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी के बारे में भी जानने की कोशिश करते हैं वो कैसी महिला थी. क्योंकि गांधी को महात्मा बनाने में उनका विशेष योगदान था. जवाब में जब संजय लोगों को बताते हैं. बा एक भारतीय संस्कारी महिला थी. जो अपने पति और बच्चों की खुशी के लिए हर त्याग करने को तैयार रहती थीं. साल 1922 में स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ते हुए महात्मा गांधी जब जेल चले गए तब स्वाधीनता संग्राम में महिलाओं को शामिल करने और उनकी भागीदारी बढ़ाने के लिए कस्तूरबा ने आंदोलन चलाया और उसमें कामयाब भी रहीं. 13 साल की उम्र में ही कस्तूरबा का गांधी जी से विवाह हो गया था. उस महान महिला के  बारे में सुनकर लोगों को अच्छा लगता है.

gandhi4

गांधी के साथ अक्सर दिखने वाली वो दो लड़कियां कौन हैं?
एक और सवाल जो अक्सर उनसे पूछा जाता था कि गांधी के साथ अक्सर दिखाई देने वाली वो लड़कियां कौन हैं. (ये सवाल मनु और आभा के बारे में था). जवाब में बताया जाता है कि वह मनु और आभा हैं जो बापू की सहायक थीं और उनकी मुहं बोली पोतियां भी. अंतिम समय में बापू इन्हीं का सहारा लेकर प्रार्थना सभा की ओर जा रहे थे. उस दिन गांधी प्रार्थना सभा में 10 मिनट देर से पहुंचे थे. वहीं जब सामने से नाथुराम गोडसे गांधी की तरफ झुके, मनु को लगा वह बापू के पैर छूने के लिए बढ़े हैं. लेकिन उसके बाद जो हुआ वो इतिहास है.

gandhi1

क्या बापू भी मैगी खाते थे..?
इस संग्रहालय में वो गांधी के खाने-पीने. पहनने ओढ़ने का सारा सामान मौजूद है. बापू की घड़ी. दांत. जेल के बरतन. घड़ी आदि कई सारे सामान को संजोकर रखा गया है. इन्हीं में चम्मच और छूरी कांटे भी हैं. जिसे देखकर लोग अक्सर एक सवाल करते हैं क्या फॉर्क से गांधी जी मैगी खाते थे.

gandhi2

बापू के कितने बच्चे थे, तस्वीरें दिखाओ?
संग्रहालय में आने वाले लोग कई बार बापू के बच्चों के बारे में जानने की कोशिश करते हैं. वे ये भी पूछते हैं ,बापू तो ब्रह्मचर्य का पालन करते थे ना..? यह भी कम ही लोग जानते हैं कि बापू के चार बच्चे हैं – हरीलाल, मणिलाल, रामदास और देवदास गांधी.

gandhi6

बापू के जीवन से संबंधित कुछ ऐसे सवाल हैं जिनसे लोग संतुष्ट हो जाते थे लेकिन कई ऐसी भी सवाल हैं जिनका जवाब शायद कोई नहीं दे सकता. 30 जनवरी 1948 को गांधी ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.