Bharat Ratna For Mahatma Gandhi: देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को दुनिया का हर बच्चा जानता है. महात्मा गांधी किसी पहचान के मोहताज नहीं है. महात्मा गांधी से जुड़ा कुछ ऐसा ही मामला शुक्रवार के दिन सुप्रीम कोर्ट में देखने को मिला. कोर्ट में दायर एक याचिका में महात्मा गांधी को ‘भारत रत्न’ देने की मांग की गई है. याचिका में कहा गया कि कोर्ट से विनती है कि वो महात्मा गांधी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजें. प्रधान न्यायधीश (CJI) एसए बोबड़े (Sharad Arvind Bobde) ने इस मामले की सुनवाई करने से मना कर दिया.

बता दें कि एक याचिकाकर्ता ने एक याचिका दाखिल किया था. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश ने इस मामले की सुनावई करने से साफ मना कर दिया. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी इन सबसे परे हैं. उन्हें किसी औपचारिकता की जरूरत नहीं है. महात्मा गांधी देश के राष्ट्रपिता हैं. वह इन सबसे बहुत उपर हैं. पूरी दुनिया के लोग गांधी को सम्मान की निगाह से देखते हैं.

बता दें कोर्ट ने कहा कि वह इस मामले में केंद्र सरकार को किसी प्रकार का आदेश नहीं दे सकते हैं. याचिकाकर्ता खुद केंद्र सरकार को इस बारे में लिखे. हालांकि यह पहली बार नहीं है जब महात्मा गांधी को भारत रत्न देने को लेकर कोर्ट में याचिका दायर की गई हो. इससे पहले भी कई बार इस बाबत कोर्ट में याचिका दायर की जा चुकी है. हर बार कोर्ट ने इस मामले को खारिज कर यही कहा कि गांधी सबसे उपर हैं और उन्हें औपचारिक मान्यताओं की जरूरत नहीं है.