उरई (उत्तर प्रदेश): कोतवाली उरई क्षेत्र के गांधी इंटर कॉलेज में स्थापित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा को असमाजिक तत्वों ने खंडित कर दिया. घटना के बाद विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने धरना देकर नए सिरे से महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित करने और असमाजिक तत्वों को गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग की है. बताया जा रहा है कि बापू की प्रतिमा का चश्मा, लाठी, किताब अब भी गायब है. इस प्रतिमा को 1970 में स्थापित कराया गया था. ये प्रतिमा गांधी इंटर कॉलेज में लगी हुई है. इसका अनावरण तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था.

पुलिस अधीक्षक सतीश कुमार ने बताया की गांधी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य रवि कुमार अग्रवाल ने कोतवाली में शिकायत देकर कहा है कि पूर्व निर्धारित समय के अनुसार आज जैसे ही वह कॉलेज पहुंचे, तो देखा की महात्मा गांधी की प्रतिमा का सिर जमीन पर टूट कर पड़ा है. उन्होंने इसकी सूचना प्रबंधन को भी दे दी.

बेशुमार लोकप्रियता: अमेरिका, चीन, पाकिस्तान सहित दुनिया के 84 देशों में हैं महात्मा गांधी की प्रतिमाएं

पुलिस अधीक्षक कुमार ने बताया की प्रधानाचार्य अग्रवाल की शिकायत पर अज्ञात असमाजिक तत्वों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया तथा खंडित प्रतिमा को सही करवा दिया गया है. कांग्रेस के जिलाध्यक्ष चौधरी श्याम सुंदर ने बताया राष्ट्रपिता की जैसी प्रतिमा थी, वैसी ही प्रतिमा स्थापित होने तक वह धरना देंगे. उन्होंने प्रतिमा खंडित करने वाले असमाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है. घटना का विरोध करते कांग्रेस नेताओं ने यहां जमकर प्रदर्शन किया.