नई दिल्ली: देश के स्वतंत्रता संग्राम में आठ अगस्त के दिन का एक खास महत्व है. दरअसल महात्मा गांधी ने अंग्रेजों को भारत से निकालने के लिए कई अहिंसक आंदोलनों का नेतृत्व किया और आठ अगस्त 1942 को उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत की थी. आठ अगस्त का दिन अफगानिस्तान में भी एक महत्वपूर्ण घटना का गवाह रहा है. 1988 में आठ अगस्त के दिन ही नौ वर्ष के युद्ध के बाद अफगानिस्तान से रूसी सेना की वापसी की शुरुआत हुई थी.Also Read - सहयोगियों के साथ बैठक के दौरान ब्रिटिश सांसद पर चाकू से हमला, इलाज के दौरान मौत

Also Read - टी20 विश्व कप में कप्तानी मुश्किल है लेकिन अपनी ओर से पूरी कोशिश करूंगा: मोहम्मद नबी

हिरोशिमा पर परमाणु बम हमले के 73 साल पूरे, दुनियाभर से परमाणु हथियारों को खत्म करने की अपील Also Read - यदि वीर सावरकर ने वास्तव में अंग्रेजों से माफी मांगी होती तो उन्हें कोई न कोई पद दिया गया होता: पौत्र रंजीत

देश दुनिया के इतिहास में आठ अगस्त की तारीख में दर्ज कुछ और खास घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा इस प्रकार है:-

1509 :विजय नगर सम्राज्य के सम्राट के रूप में महाराज कृष्णदेव राय की ताजपोशी.

1549 : फ्रांस ने इंग्लैंड के खिलाफ युद्ध की घोषणा की.

1609 : वेनिस की सीनेट ने गैलिलियो द्वारा तैयार दूरबीन का निरीक्षण किया.

1763 : वर्षों के संघर्ष के बाद अंतत: कनाडा फ़्रांस के अधिकार से स्वतंत्र हुआ.

1864 : जिनेवा में रेड क्रॉस की स्थापना.

1876 : थॉमस अल्वा एडिसन ने मिमियोग्राफ का पेटेंट कराया.

1899 : ए.टी. मार्शल ने रेफ्रीजरेटर का पेटेंट कराया.

1900 : बोस्टन में पहली डेविस कप श्रृंखला की शुरूआत.

1908 :शास्त्रीय संगीत गायिका सिद्धेश्वरी देवी का जन्म.

1919 : ब्रिटेन ने अफगानिस्तान की आजादी को मंजूरी दी.

1942 : महात्मा गांधी ने भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत की.

1947 : पाकिस्तान ने अपने राष्ट्रीय ध्वज को मंजूरी दी.

1988 : अफगानिस्तान में 9 साल के युद्ध के बाद रूसी सेना की वापसी शुरू हुई.

1988 : आठ वर्ष तक चले संघर्ष के बाद ईरान और इराक के बीच युद्धविराम की घोषणा.

1990 : इराक़ के तत्कालीन तानाशाह सद्दाम हुसैन ने कुवैत पर कब्जे का ऐलान किया.

2004 : इटली ने बोफ़ोर्स दलाली मामले के मुख्य आरोपी ओट्टाविया क्वात्रोची को भारत को सौंपने से इनकार किया.

2010 : तेजस्विनी सावंत म्युनिख में आयोजित विश्व निशानेबाजी प्रतियोगिता की 50 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर यह उपलब्धि प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला बनीं.