जम्मू-कश्मीर. पत्थरबाजी के कथित आरोप में एक व्यक्ति को सेना की जीप के बोनट पर बांधकर कई गांव घूमने वाले मेलर लीतुल गोगाई को पुलिस ने हिरासत में लिया है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पुलिस ने गोगोई सहित एक महिला और पुरुष से श्रीनगर स्थिति एक होटल में पूछताछ की है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, होटल में किसी बात के झगड़े को लेकर पुलिस वहां पहुंची. बता दें कि मेजर गोगोई इसी होटल में रुके थे और एक लड़की उनसे मिलने पहुंची थी. इस दौरान होटल स्टॉफ ने लड़की और उसके ड्राइवर को अंदर जाने से मना कर दिया तो दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया. सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को पकड़कर थाने ले गई. बाद में मेजर को छोड़ दिया गया.

आईजीपी (कश्मीर) एसपी पानी ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं. उन्होंने एसपी नॉर्थ सज्जाद अहमद शाह को जांच अधिकारी बनाया है. शाह ने बताया कि हम मामले की समानांतर जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि होटल में लीतुल गोगोई के नाम से रूम बुक था. इसी दौरान एक कपल होटल में आया, लेकिन उसे एंट्री नहीं दी गई. होटल स्टॉफ का कहना था कि वह लोकल लड़ॉकी को होटल में एंट्री नहीं दे सकता है.

नाम न बताने की शर्त पर एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि लीतुल गोगोई के नाम पर होटल में दो अतिथियों के एक रात के प्रवास के लिए ऑनलाइन बुकिंग हुई थी. दोनों पक्षों के बयान दर्ज करने वाली पुलिस के अनुसार मेजर से होटल स्टाफ ने कहा कि वह युवती के साथ कमरे में प्रवेश नहीं कर सकते. इस पर स्टाफ और गोगोई के चालक के बीच विवाद हो गया. होटल के अन्य कर्मचारियों ने तत्काल मेजर और उनके चालक को पकड़ लिया और पुलिस बुला ली.

अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर आधारित कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ए के भट को स्थिति से अवगत कराया गया. उन्होंने कहा कि हालांकि पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है. टिप्पणी मांगे जाने पर नयी दिल्ली में सेना के सूत्रों ने बताया कि पुलिस जांच पूरी हो जाने तथा स्थितियां स्पष्ट हो जाने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. अधिकारी ने बताया कि मेजर गोगोई की सैन्य यूनिट की एक टीम सेना पुलिस के साथ पहुंची. स्थानीय पुलिस ने बयान दर्ज करने के बाद गोगोई को उसे सौंप दिया.