नई दिल्ली। सेना के साथी अधिकारी की पत्नी की हत्या करने वाले मेजर निखिल हांडा ने एक अन्य महिला से क्वैकक्वैक डॉट इन डेटिंग साइट के माध्यम से दोस्ती की थी और अपराध के बाद उसने महिला को फोन किया था. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज बताया कि हांडा के न केवल कई फर्जी फेसबुक अकाउंट थे बल्कि फर्जी प्रोफाइल के जरिए डेटिंग साइट पर वह महिलाओं से दोस्ती करता था.

डेटिंग साइट से एक और महिला के करीब आया

जांच से वाकिफ अधिकारी ने बताया कि उसने दिल्ली के पटेल नगर की निवासी महिला से क्वैकक्वैक डॉट इन के माध्यम से कई साल पहले दोस्ती की थी. तलाकशुदा महिला मेजर हांडा की काफी करीबी थी. महिला को पता था कि मेजर हांडा शादीशुदा है और वह शैलजा द्विवेदी को भी जानती थी लेकिन उनसे कभी मिली नहीं थी. शैलजा की हत्या के बाद मेजर हांडा ने सबसे पहले उसे फोन किया था इसलिए पुलिस ने उससे पूछताछ की.

मेरठ से हुआ था नितिन गिरफ्तार

बता दें कि शैलजा के हत्या के आरोपी नितिन हांडा को पुलिस मेरठ से गिरफ्तार किया था. अदालत ने उसे चार दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है. लेकिन पुलिस के मुताबिक वह पूछताछ में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहा है. शैलजा की हत्या करने के कुछ देर तक वह दिल्ली में घूमता रहा और फिर मेरठ चला गया. उसका फोन कुछ सेकेंड के लिए ही ऑन किया था जिसके आधार पर पुलिस ने उसकी लोकेशन ढूंढ़ निकाली और गिरफ्तार कर लिया.

मेजर की पत्नी का मर्डर केस: गुमराह कर रहा है आरोपी हांडा, पुलिस के पास नकली चाकू

पुलिस को कर रहा है भ्रमित

लेकिन पुलिस के लिए उससे कुछ कबूल करवा पाना मुश्किल साबित हो रहा है. पुलिस डिप्युटी कमिश्नर (डीसीपी) पश्चिमी दिल्ली विजय कुमार के मुताबिक, मेजर निखिल हांडा पुलिस को जांच में भ्रमित कर रहा है. वह पुलिस को लगातार उलझाने की कोशिश कर रहा है. वह दिन-प्रतिदिन गलत जानकारी दे रहा है. पुलिस का कहना है कि उसने 90 फीसदी काम पूरा कर लिया है. लेकिन इस मामले में सबसे अहम बात ये है कि पुलिस अभी तक हत्या में इस्तेमाल चाकू बरामद नहीं कर पाई है.