नई दिल्‍ली| बीजेपी सांसद हुकुमदेव नारायण यादव ने सोमवार को संसद में कहा कि देश में अधिकांश मुस्लिमों के पूर्वज हिंदू थे. वो भीड़ द्वारा पीटकर की जाने वाली हत्या पर लोकसभा में बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि “इस देश के मुसलमानों को यह जानना चाहिए कि उनके पूर्वज हिंदू थे, और उस वक्‍त हिंदू देवता उनके थे.” उन्होंने ये भी कहा कि सामाजिक समरसता के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए मुसलमानों को हिन्दुओं एवं हिन्दुओं को मुसलमानों के विचारों का सम्मान करना चाहिए. हुकुमदेव बिहार में मधुबनी से बीजेपी सांसद हैं.

लोकसभा में नियम 193 के तहत मल्लिकार्जुन खडगे और प्रो. सौगत राय की ओर से पेश “देश में अत्याचारों और भीड़ द्वारा हिंसा में जान से मारने की कथित घटनाओं से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए भाजपा सदस्य ने कहा, “भीड़, भीड़ होती है…. चाहे किसी के नाम पर हो. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कई बार भीड़ द्वारा की गई ऐसी घटनाओं को गलत बता चुके हैं. वे कह चुके हैं कि इन पर कार्रवाई होनी चाहिए. यह कार्य राज्यों को करना है और उन्हें कदम उठाना चाहिए.”

उन्होंने सवाल किया कि क्या कश्मीर में पत्थर फेंकने वाले और सेना को राष्ट्र कार्य में बाधा डालने वाले भीड़ का हिस्सा नहीं हैं? क्या देश के कुछ हिस्सों में हिन्दुओं को उनके सांस्कृतिक, धार्मिक कर्तव्यों में बाधा पहुंचाने, केरल में संघ प्रचारकों की हत्या करने वाला समूह भीड़ नहीं है? लेकिन क्या किसी ने यह बात उठायी? केरल में प्रचारकों :संघ: की हत्या क्यों होती है? हुकुमदेव नारायण यादव ने कहा कि हम भारतीय संस्कृति में विश्वास रखने वाले लोग हैं, आप हमारी हत्या कर रहे हैं… यह भी माब का ही मामला है.

भाजपा सदस्य ने कहा कि आज इस देश में कोई अल्पसंख्यक नहीं है. हिन्दू जात-पात में बंटे हैं. गांधीजी के समय लोग ईश्वर अल्ला तेरे नाम बोलते थे, वंदे मातरम के नारे लगाते थे लेकिन आज इस पर सवाल उठाये जा रहे हैं. यह राष्ट्र के खिलाफ कार्य है. उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आर्थिक क्रांति और राष्ट्रवाद को जोड़ते हुए देश को आगे बढ़ा रहे हैं और इससे कुछ लोग परेशान है.

विपक्ष का वार

गोरक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा लोगों की पीट पीट कर हत्या किए जाने के मुद्दे पर विपक्षी दल कांग्रेस ने सरकार को घेरते हुए कहा कि देश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है, साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि ऐसे कितने मामलों में उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की.  देश में ऐसी घटनाओं में वृद्धि होने का दावा करते हुए लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया,  “ऐसी घटनाओं के पीछे केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा से जुड़े संगठनों विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे संगठनों का हाथ है. प्रधानमंत्री बताएं कि वे इन हमलों को रोकने के लिए क्या करेंगे?”

खड़गे ने कहा, “आज देश में ऐसा माहौल है कि हिंदू , हिंदू को मार रहा है और मुसलमान , मुसलमान को मार रहा है. और ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि भाजपा पूरे देश में अपना दर्शनशास्त्र लागू करना चाहती है. उन्होंने कहा कि संविधान में हर नागरिक को जीवन का अधिकार दिया गया है लेकिन देश में जब से राजग के कदम पड़े हैं तब से इस प्रकार की घटनाएं घट रही हैं और ये सब सरकार के समर्थन और प्रोत्साहन से हो रहा है.