बेंगलुरु: कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किये जाने पर बीजेपी ने कहा कि वह विधानसभा में बहुमत साबित करेगी. साथ ही बीजेपी ने चुनाव बाद हुये कांग्रेस – जद (एस) गठबंधन को नापाक और अस्वीकार्य  करार दिया. सरकार बनाने के लिए बी एस येदियुरप्पा को राज्यपाल वजुभाई वाला के आमंत्रण पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि कांग्रेस और जद (एस) के बीच सिर्फ बीजेपी को सत्ता से दूर रखने की सहमति बनी है. Also Read - राहुल गांधी की रक्षा मामलों में केवल ''कमीशन'' को लेकर ही रुचि, संसदीय समिति में नहीं: बीजेपी

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, यह जनादेश और लोकतांत्रिक प्रक्रिया से पूरी तरह विपरीत है और इसे लोगों की अभिव्यक्ति के छेड़छाड़ के रूप में माना जाना चाहिए जो लोकतांत्रिक प्रक्रिया में पवित्र है. कर्नाटक में हुये विधानसभा चुनाव में खंडित जनादेश के बीच बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है. Also Read - लुटियंस जोन में स्थित प्रियंका गांधी वाला '35 लोधी एस्टेट' बंगला BJP नेता अनिल बलूनी को आवंटित

राव ने कहा- कर्नाटक के लोग जानते हैं कि यह नापाक और अस्वीकार्य गठबंधन है. राज्यपाल के आमंत्रण पर उन्होंने कहा, हमने अपना दावा पेश किया है…   सबसे बड़ा दल होने के नाते हम जिम्मेदारी स्वीकार करते हैं और सरकार बनाने की इच्छा व्यक्त कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जब भी खंडित जनादेश आया है , बीजेपी ने हमेशा मूल लोकतांत्रिक सिद्धांतों का पालन किया है.

उन्होंने कहा, हम राज्यपाल के निर्देशानुसार सदन में अपना बहुमत साबित करेंगे. राव ने कहा कि येदियुरप्पा अकेले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और एक बार सदन में बहुमत साबित हो जाए तो कैबिनेट में सदस्यों को शामिल किया जाएगा और इसका विस्तार किया जाएगा.