नई दिल्ली। मलयालम सुपरस्टार मोहनलाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर नए कयासों को जन्म दे दिया है. मोहनलाल ने सोमवार को नई दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात की थी. जन्माष्टमी के दिन हुई इस मुलाकात के बाद खबरें ये भी उड़ रही हैं कि मोहनलाल 2019 चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. Also Read - आज गुजरात को कई परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम मोदी, ‘किसान सूर्योदय योजना’ को भी करेंगे शुरू

डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, आरएसएस की इच्छा है कि मोहनलाल अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में तिरुवनंतपुरम लड़ें. इसकी खास वजह है कि यहां से कांग्रेस नेता शशि थरूर भी चुनाव लड़ते हैं और वह बीजेपी-संघ को लेकर किस कदर मुखर हैं ये किसी से छुपा हुआ नहीं है.

केरल में बीजेपी कर रही कड़ी मेहनत

बीजेपी ने कुछ समय में केरल में अपना वोट बैंक बढ़ाया है हालांकि अभी तक वह अपनी छाप छोड़ने में खास कामयाब नहीं हुई है. केरल में बीजेपी का सबसे बड़ा नाम हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री ओ राजगोपाल जिन्होंने बीजेपी के इतिहास में पहली बार केरल विधानसभा की सीट जीती है. बीजेपी में पहले से ही एक और मलयालम एक्टर सुरेश गोपी हैं, और अगर मोहनलाल भी बीजेपी में आ जाते हैं तो बीजेपी को इस राज्य में बड़ा नाम और बड़ा फायदा मिल सकता है.

केरल में संघ की जड़ें मजबूत, फिर भी आगे क्यों नहीं बढ़ पाई बीजेपी?

केरल में बीजेपी को अभी तक एक मजबूत चेहरा नहीं मिल सका है जो जनता को आकर्षित कर सके. मोहनलाल इस कमी को पूरा कर सकते हैं. गोपी ने विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार जरूर किया था. लेकिन बाद में वह टैक्स से जुड़े मामले में फंस गए. फिलहाल वह राज्यसभा सांसद हैं.

नोटबंदी का किया था समर्थन

2016 में मोहनलाल के बीजेपी में शामिल होने की खबरों को उस समय और बल मिला था जब उन्होंने नोटबंदी का समर्थन किया था. उन्होंने कहा था कि आम आदमी के लिए ये कदम अच्छा है और लोगों को करप्शन से मुक्ति पाने के लिए थोड़ा कष्ट उठाना चाहिए. उनके इस बयान का केरल में कई नेताओं ने विरोध किया था.

सोमवार को पीएम मोदी से मुलाकात के बाद मोहनलाल ने कहा कि पीएम ने बाढ़ से प्रभावित केरल की हरसंभव मदद का भरोसा दिया है. उन्होंने ये भी कहा कि पीएम ने उन्हें ग्लोबल मलयाली राउंड टेबल में हिस्सा लेने का भी भरोसा दिया ताकि नए केरल का रोडमैड बनाया जा सके.