नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शनिवार को यहां आयोजित नीति आयोग संचालन परिषद की बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तेलंगाना के चंद्रशेखर राव सहित तीन मुख्यमंत्री अनुपस्थित रहे. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी बैठक में नहीं आ सके.

सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के लिए नीति आयोग महत्वपूर्ण: मोदी

सूत्रों ने बताया कि अमरिंदर सिंह स्वास्थ्य कारणों से बैठक में नहीं आ पाए. बैठक में पंजाब का प्रतिनिधित्व राज्य के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने किया. बैठक में अन्य सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, संघ शासित प्रदेशों के प्रशासक तथा जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने हिस्सा लिया. उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी और केसीआर 30 मई को मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भी शामिल नहीं हुए थे. सूत्रों ने बताया कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री अपनी महत्वाकांक्षी 80,000 करोड़ रुपये की कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना को शुरू करने की तैयारियों में व्यस्त हैं. इस परियोजना से राज्य के जल संकट को दूर किया जा सकेगा. बताया जाता है कि तेलंगाना सरकार ने बैठक में अपना कोई प्रतिनिधि भी नहीं भेजा.

PM मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग संचालन परिषद की पांचवीं बैठक शुरू, होंगे बड़े फैसले

ममता ने पत्र लिखकर बैठक में शामिल होने को लेकर जताई थी असमर्थता
ममता बनर्जी ने मोदी को पत्र लिखकर इस बैठक में शामिल होने में असमर्थता जताई थी. उनका कहना था कि नीति आयोग के पास किसी तरह के वित्तीय अधिकार नहीं हैं ऐेसे में इस तरह की बैठक की कवायद बेकार है. इससे पहले भी ममता नीति शोध संस्था की बैठक में शामिल नहीं हुई थीं और उन्होंने योजना आयोग को भंग किए जाने पर नाराजगी जताई थी.