साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के विजय रथ को रोकने के लिए विपक्षी पार्टियां लामबंद हो रही हैं. सोनिया गांधी के बाद शरद पवार ने डिनर डिप्लोमेसी के तहत डिनर का आयोजन किया है. इसमें कांग्रेस सहित 19 पार्टियों को न्योता भेजा गया है. खास बात यह है कि सोनिया गांधी के कार्यक्रम में नहीं पहुंची ममता बनर्जी पवार के इस मीट में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंच गई हैं.

मोदी सरकार के खिलाफ लगातार चला रही हैं अभियान
बता दें कि ममता बनर्जी बीजेपी सरकार के खिलाफ लगातार लामबंद हैं. नोटबंदी से लेकर जीएसटी तक के मुद्दे पर वह सरकार के खिलाफ अभियान चलाती रही हैं. वह कई बार कह चुकी हैं कि मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए समान विचारधारा की पार्टियों को साथ आना चाहिए. इसी अभियान के तहत ममता अपने चार दिन की यात्रा पर दिल्ली पहुंची हैं.

ये हो सकता है कार्यक्रम
मंगलवार को सबसे पहले संसद भवन के सेंट्रल हॉल में विपक्षी पार्टियों के सांसदों से मुलाकात करेंगी. शाम को वह शरद पवार के घर पर आयोजित डिनर में जाएंगी.बताया जा रहा है कि ममता, शरद यादव और अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात करेंगी. इसके साथ ही वह टीडीपी और शिवसेना के नेताओं से भी मुलाकात कर सकती हैं.

सांसदों से करेंगी मुलाकात
इसके पहले दिल्ली रवाना होने से पहले ममता ने कहा था कि यह नियमित यात्रा है. उन्होंने कहा था, ‘केंद्रीय कक्ष एक प्रसिद्ध कक्ष है जहां मैं अपनी पार्टी के नेताओं से मिलूंगी और अगर विपक्ष के नेता मुझसे मिलना चाहते हैं तो मैं उनका स्वागत करती हूं. हम सभी मित्र हैं.’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी से मिलेंगी, ममता ने कहा, ‘वह अस्पताल में भर्ती हैं. उन्हें ठीक होने दीजिए. मैं उन्हें परेशान नहीं करना चाहतीं.’