कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले उत्तर प्रदेश में शनिवार को बने सपा-बसपा गठबंधन का स्वागत किया. बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘आगामी लोकसभा चुनावों से पहले सपा और बसपा के गठबंधन का मैं स्वागत करती हूं.’ तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष भाजपा की मुखर आलोचक रही हैं. आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा से मुकाबले के लिये विपक्षी गठबंधन के निर्माण की कोशिश में वह पिछले एक साल से देश में भ्रमण कर रही हैं.

यूपी में 38-38 सीटों पर लड़ेंगी सपा-बसपा, अमेठी-रायबरेली बिना गठबंधन कांग्रेस के लिए छोड़ी

इससे पहले बनर्जी ने अहम माने जाने वाले उत्तर भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश से भाजपा को उखाड़ फेंकने के लिये समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन का सुझाव दिया था. उत्तर प्रदेश से संसद के निचले सदन में 80 सांसद चुनकर आते हैं. लखनऊ में शनिवार को बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2019 लोकसभा चुनावों के लिये उत्तर प्रदेश में अपने गठबंधन की घोषणा की.

सीट बंटवारे के तहत 80 संसदीय सीटों वाले राज्य में दोनों पार्टियां 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. पार्टी ने कांग्रेस को इस गठबंधन से दूर रखा, हालांकि उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के प्रतिनिधित्व वाली अमेठी और राय बरेली सीट पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेंगे.