नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के भावी अध्यक्ष सौरव गांगुली को अपना लड़का बताया है. रविवार को भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद गांगुली के राजनीति में आने की चर्चा तेज हो गई है. पूर्व क्रिकेटर ने बीसीसीआई अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने के कुछ घंटे पहले केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद सौरव गांगुली के बंगाल की राजनीति में आने के कयास लगाए जाने लगे. मीडिया में ऐसी खबरें चलने लगी थी कि सौरव बंगाल में भाजपा के चेहरा हो सकते हैं. हालांकि मंगलवार को कोलकता पहुंचे के तुरंत बाद सौरव गांगुली ने इन कयासों को खारिज कर दिया था. उन्होंने कहा कि वह पहली बार अमित से मिले थे और राजनीति में आने के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई.

सीएम ममता ने बुधवार को कहा- सौरव हमारा अपना लड़का है. हम एक दूसरे से लगातार संपर्क में हैं. हमने कल भी एक-दूसरे को मैसेज किया था. पूजा से पहले सौरव मुझसे मिलने भी आए थे. मेरी उनसे आगे भी बात होती रहेगी.

क्या सौरव गांगुली के BCCI अध्यक्ष बनने पर PAK का दौरा करेगी टीम इंडिया, मिला ये जवाब

बुधवार को ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा- गांगुली को लेकर हम बहुत आश्वस्त हैं, उन्होंने राज्य को गौरवान्वित किया है. उन्होंने कहा, ‘ऐसी कई चीजें हैं जो हर बंगाली को गर्व महसूस कराती हैं. बंगाल की मदर टेरेसा, अमर्त्य सेन और अभिजीत बनर्जी को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया. बंगाल से जगमोहन डालमिया के बाद सौरव गांगुली को बीसीसीआई का अध्यक्ष बनना तय है. मुख्यमंत्री ने गांगुली को उनकी नई पारी के लिए शुभकामनाएं दी.

इस मामले पर गांगुली ने कहा- मैं उनसे (अमित शाह) से पहली बार मिला था. इस दौरान मैंने बीसीसीआई के अध्यक्ष पद को लेकर कोई बात नहीं की और न ही गृहमंत्री ने इस बारे में मुझसे कोई बात की. यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी और न ही इसका कोई राजनीतिक मतलब है. गौरतलब है कि अमित शाह के बेटे जय शाह को बीसीसीआई में सेक्रेटरी चुना जाना तय है.