कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संशोधित नागरिकता कानून के विरूद्ध हिंसक प्रदर्शनों को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका काम देश में आग लगाना नहीं बल्कि इसे बुझाना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ नारे पर कटाक्ष करते हुए बनर्जी ने कहा कि भाजपा सरकार ने देश में सबका सत्यानाश कर दिया है.

 

ममता बनर्जी ने आश्चर्य जताया कि क्या भाजपा नागरिकता को वैध बनाने की ‘वाशिंग मशीन’ बन गयी है. संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ कोलकाता में हावड़ा मैदान से एसप्लानेड तक विरोध मार्च का नेतृत्व करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं अमित शाह से सुनिश्चित करने का अनुरोध करती हूं कि देश नहीं जले. आपका काम देश में आग लगाना नहीं बल्कि इसे बुझाना है. मुख्यमंत्री ने शाह से देश का ध्यान रखने और भाजपा कार्यकर्ताओं को ‘नियंत्रित’ करने की भी अपील की.

बनर्जी ने फिर दोहराया कि वह पश्चिम बंगाल में नागिरकता कानून और एनआरसी लागू नहीं होने देंगी. बनर्जी ने कहा कि आप (शाह) कहते हैं कि किसी कि नागरिकता नहीं जाएगी. लेकिन अब आप (यह भी) कह रहे हैं कि पैन, आधार से नागरिकता साबित नहीं होगी. फिर क्या काम करेगा? भाजपा का ताबीज ? भाजपा वाशिंग मशीन बन गयी है. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने कहा कि अगर गृह मंत्री के मुताबिक आधार नागरिकता का प्रमाण नहीं है तो इसे कल्याणकारी योजनाओं और बैंकिंग व्यवस्था से क्यों जोड़ा गया.

बनर्जी ने एनआरसी और संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करते हुए सोमवार और मंगलवार को दो प्रदर्शन मार्च का नेतृत्व किया. अगले दो दिनों में वह दो और मार्च का नेतृत्व करेंगी. बनर्जी ने दावा किया कि हिंसा की एक दो मामूली घटना पर केंद्र ने पश्चिम बंगाल में लंबी दूरी की रेल सेवा रोक दी. उन्होंने कहा कि उत्तरी बंगाल दक्षिणी बंगाल से कट गया. मैं केंद्र सरकार से सेवाओं को बहाल करने का अनुरोध करती हूं. लोगों को काफी दिक्कतें हो रही हैं.