नई दिल्लीः लॉकडाउन के चलते देशभर में फंसे प्रवासी मजदूरों के घर वापसी का लेकर सभी सरकारें जोर शोर से काम कर रही हैं. इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने राज्य में आने वाली सभी प्रवासी श्रमिक ट्रेनों की एंट्री पर बैन लगा दिया है. इस मामल पर गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है. Also Read - लंबे ब्रेक से मेरा शरीर अकड़कर जॉम्‍बी मोड में चला गया है: दिनेश कार्तिक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार प्रवासी मजदूरों को लेकर जाने वाली ट्रेनों को राज्य पहुंचने की अनुमति नहीं दे रही है जिससे श्रमिकों के लिए और दिक्कतें खड़ी हो सकती हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखकर, शाह ने कहा कि ट्रेनों को पश्चिम बंगाल पहुंचने की अनुमति न देना राज्य के प्रवासी श्रमिकों के साथ ‘‘अन्याय” है. Also Read - Delhi-Gurugram Border: दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर पुलिस की चेकिंग शुरू, आखिर क्या होगा कल

देश के विभिन्न हिस्सों से अलग-अलग गंतव्य स्थानों तक प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों का संदर्भ देते हुए, गृह मंत्री ने पत्र में कहा कि केंद्र ने दो लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने की सुविधा प्रदान की है. शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल के प्रवासी श्रमिक भी घर पहुंचने के लिए बेचैन हैं और केंद्र सरकार ट्रेन सेवाओं की सुविधा भी दे रही है. Also Read - कोरोना वॉरियर: यह महिला अपने बचत के पैसे खर्च कर लखनऊ की गलियों को कर रही सैनिटाइज

शाह ने लिखा, “लेकिन हमें पश्चिम बंगाल से उम्मीद के मुताबिक सहयोग नहीं मिल रहा है. पश्चिम बंगाल की राज्य सरकार ट्रेनों को पश्चिम बंगाल पहुंचने की अनुमति नहीं दे रही है. यह पश्चिम बंगाल के प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है. यह उनके लिए और दिक्कतें खड़ी करेगा.”