रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास (Raghubar Das) और पश्चिम बंगाल की उनकी समकक्ष ममता बनर्जी (Mamta banerjee) ने अधिकारी स्तर की बैठक के जरिए मसानजोर बांध विवाद का हल करने का संकल्प लिया है. एक सरकारी बयान में बताया गया है कि पूर्वी जोनल परिषद की सोमवार को कोलकाता में हुई बैठक के दौरान दास ने बनर्जी की मौजूदगी में इस मसले को उठाया. बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने की और इसमें बिहार तथा ओड़िशा के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया .

बयान में कहा गया है कि दोनों मुख्यमंत्रियों ने बातचीत के लिए मसले के हल पर सहमति जताई जिसके लिए दोनों राज्यों के अधिकारियों की एक बैठक जल्द होगी. करीब दो महीने पहले, अगस्त के शुरू में पश्चिम बंगाल के अधिकारियों ने झारखंड के दुमका जिले में बांध की दीवारों को सफेद और नीले रंग से रंग दिया था जो तृणमूल कांग्रेस पार्टी का रंग है. इसके जवाब में भाजपा की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने बांध के दरवाजे से ‘बंगाल’ शब्द को मिटा दिया था और ‘झारखंड’ शब्द पेंट कर दिया था. मसानजोर डैम को रंगने के इस विवाद ने तूल पकड़ लिया था. झारखंड में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस की सरकारों ने इस मामले को लेकर तीखी प्रतिक्रिया दी थी. वहीं, भाजपा समर्थित कुछ संगठनों ने इसे झारखंड की संपत्ति पर बंगाल द्वारा जबरन कब्जा करने का मामला करार दिया था. दो राज्यों के बीच उठे विवाद को देखते हुए आखिरकार केंद्र को हस्तक्षेप करना पड़ा, तब जाकर इसके समाधान की राह आसान हुई है.

(इनपुट – एजेंसी)