कोलकाता: पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सरकार को पांच अगस्त को लॉकडाउन लागू करने के अपने फैसले को वापस नहीं लेने पर राज्य के चुनावों में भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमिपूजन समारोह को देखते हुये सरकार से लॉकडाउन हटाने का अनुरोध किया है.Also Read - Farmer's Agitation Live Updates: किसान नेता चढूनी बोले, जब तक सरकार सभी मांगें नहीं मान लेती तब तक आंदोलन चलता रहेगा

घोष ने यह भी दावा किया कि इस मामले पर ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार का रुख ‘‘हिंदू समुदाय की भावनाओं के अनादर को दर्शाता है.’’ घोष ने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल के लोग सब कुछ देख रहे हैं. वे अगले चुनावों में सरकार बदलने से नहीं हिचकेंगे. यह अहंकार उन्हें महंगा पड़ेगा.’’ Also Read - Goa: पूर्व मुख्‍यमंत्री रवि नाइक ने दिया कांग्रेस के व‍िधायक पद से इस्तीफा, BJP में हो सकते हैं शामिल

वहीं टीएमसी के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने आरोप को खारिज करते हुए कहा कि भाजपा को कोविड-19 महामारी के बीच सांप्रदायिक राजनीति में शामिल होने से बचना चाहिए. उल्लेखनीय है कि पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन होगा. Also Read - Loksabha में बोले राहुल गांधी, मेरे पास है आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों की लिस्ट; इन्हें दीजिए मुआवजा