मुंबई| मुम्बई के एक अस्पताल के एमआरआई कक्ष में कथित रूप से अत्यधिक मात्रा में तरल आक्सीजन सांस से अंदर ले लेने से 32 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज बताया कि राजेश मारू की कल शाम मध्य मुम्बई स्थित एक सरकारी अस्पताल में मौत हो गई. इस मामले में चिकित्सक, एक वार्ड ब्वाय और एक महिला सफाई कर्मी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. Also Read - देशभर के स्वास्थ्य केंद्रों में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र, PM CARES Fund से आवंटित किए गए 201.58 करोड़ रुपये

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि मारू अपने एक रिश्तेदार की एमआरआई स्कैन कराने के लिए अस्पताल गए थे. उन्होंने बताया कि मारू चिकित्सक के निर्देशानुसार मरीज को स्कैन के लिए एमआरआई वार्ड ले गए. वहां एक आक्सीजन सिलेंडर लीक हो गया. Also Read - 84 दिन बाद भारत में 50,000 से कम नए मामले आए, ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया कि आक्सीजन तरल रूप में थी जो कि जहरीली होती है. पीड़ित ने अत्यधित मात्रा में तरल आक्सीजन सांस के जरिये अंदर ले ली जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. उन्होंने बताया कि इस घटना में मरीज प्रभावित नहीं हुआ. Also Read - Mumbai Rain: मुंबई के इस COVID डेडिकेटेड अस्पताल में घुसा बारिश का पानी, देखें VIDEO

उन्होंने बताया कि अग्रिपाड़ा पुलिस ने चिकित्सक, वार्ड ब्वाय और एक महिला सफाईकर्मी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के तहत एक मामला दर्ज कर लिया है. उन्होंने बताया कि इस संबंध में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. मामले में आगे की जांच जारी है.