कोच्चि: कोच्चि में 32 वर्षीय व्यक्ति ने कथित तौर पर इस डर से अपने नवजात बच्चे को गिरजाघर में छोड़ दिया था कि चौथे बच्चे के जन्म के बाद समाज में उनकी बदनामी होगी. पुलिस ने शनिवार को बताया कि एडपल्ली के सेंट जॉर्ज फोरेन चर्च में नवजात बच्चे को छोड़ने के मामले में बिट्टू और उसकी पत्नी प्रतिभा (28) को सुबह त्रिशूर जिले से गिरफ्तार कर लिया गया. प्रारंभिक जांच में बिट्टू ने अधिकारियों को बताया कि उन्होंने लोकलाज के कारण ऐसा किया. उनके दोस्त और स्थानीय लोग प्रतिभा के लगातार गर्भवती रहने के कारण कथित रूप से उनका मजाक उड़ाया करते थे.

पुलिस ने हालांकि कहा कि किसी भी निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए विस्तृत जांच की जरूरत है. पुलिस के मुताबिक दंपति पर संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. टीवी चैनलों और सोशल मीडिया पर प्रसारित सीसीटीवी फुटेज में एक दंपति सेंट जॉर्ज फोरेन चर्च में शुक्रवार शाम अपने बच्चे को छोड़कर जाता दिखाई दिया.

गिरजाघर की सुरक्षा में लगे कर्मियों ने रात करीब साढ़े आठ बजे बच्चे को देखा और तुरंत पुलिस को सूचित किया. पिता ने नवजात को गिरजाघर की जमीन पर रखने से पहले उसके माथे को चूमा. घटना के तुरंत बाद नवजात बच्चे को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल सूत्रों के मुताबिक बच्चा स्वस्थ है.