अकोला: महाराष्ट्र के अकोला जिले में एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार से कुछ देर पहले खुलासा हुआ है कि उसकी हत्या की गई थी. पुलिस ने यह जानकारी दी. पुलिस ने 35 वर्षीय व्यक्ति का अंतिम संस्कार रोक दिया और उसके शव को पोस्टमॉर्टम के लिये ले गई. उन्होंने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उसकी हत्या की गई थी. शहर के गणेश नगर इलाके में रहने वाले मनीष पचपोर की शनिवार को मौत हो गई थी.

पुलिस निरीक्षक देवराव खांडेराव ने बताया कि जब उसके बड़े भाई योगेश पचपोर (40) और परिवार के अन्य सदस्य उसके अंतिम संस्कार के लिये श्मशान पहुंचे तो पुलिस ने एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए उसके अंतिम संस्कार को रोक दिया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया. उन्होंने कहा, “हमें सूचना मिली थी कि मनीष की उसके बड़े भाई ने हत्या कर दी थी और इसीलिये अंतिम संस्कार को रोका गया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया गया.”

उन्होंने कहा कि बाद में शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि मृतक पर हमला भी किया गया था. अधिकारियों ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर योगेश से पूछताछ की गई और उसने अपने भाई की हत्या की बात कबूल ली. पुलिस ने कहा कि योगेश के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.