जोधपुर: राजस्थान के पीपरसिटी इलाके में एक व्यक्ति ने अल्लाह को खुश करने के लिए कुर्बानी देने के नाम पर अपनी 4 साल की बच्ची की हत्या कर दी. रमजान के पाक महीने में अल्लाह को खुश करने के लिए अपनी मासूम बेटी की कुर्बानी देने वाले शख्स को शनिवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. जोधपुर ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत ने बताया कि शुक्रवार सुबह नवाब अली की बड़ी बेटी रिजवाना का शव घर पर बरामद हुआ था, रिजवाना का गला रेता हुआ था.

क्या है पूरा मामला?
मामला जोधपुर के सिलावटों का मोहल्ला इलाके का है जहां नवाब अली कुरैशी अपनी पत्नी व दो बेटियों के साथ घर की छत पर सो रहा था. रात करीब तीन बजे उसकी पत्नी शबाना की आंख खुली तो बड़ी बेटी रिजवान पास में नहीं मिली. उसने इधर-उधर देखा तो रिजवान छत पर ही खून से लथपथ पड़ी थी. उसने तत्काल अपने पति नवाब अली को जगाया और रात को ही उसे सरकारी अस्पताल ले कर गए.

सूचना मिलते ही थानाप्रभारी राजेंद्र खदाव अस्पताल पहुंचे. तब तक चिकित्सकों ने रिजवान को मृत घोषित कर शव मॉर्चुरी में रखवा दिया था. मृतका की मां की रिपोर्ट पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया.

कैसे हुआ खुलासा?
जांच के लिए श्वान दस्ते और एफएसएल की टीम को बुलाया गया था. आरोपी पिता ने पहले अपना जुर्म कबूल नहीं किया था लेकिन पुलिस को पूरी जांच पड़ताल के बाद जब कोई सुराग हाथ नहीं लगा तो पुलिस को अली पर शक हुआ. दुष्यंत ने बताया कि घर अंदर से बंद होने के कारण अली पर संदेह हुआ. एसपी ने बताया कि पुलिस ने जब सख्ती की तो उसने अपनी बेटी को मारने की बात कबूल ली. उसने बताया कि रमजान के दौरान अल्लाह की रहमत पाने की खातिर उसने अपनी बेटी की हत्या कर दी.