नई दिल्ली. यूपी की राजधानी लखनऊ के हसनगंज थाना क्षेत्र में कश्मीरी युवकों पर हमले का मामला सामने आया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, डॉलीगंज में मेवा बेचने वाले तीन कश्मीरी युवकों से कुछ दबंगों ने पहले आधार कार्ड मांगा. इसके बाद ये जानकारी हो गया कि वे कश्मीरी हैं तो उनकी पिटाई शुरू कर दी. बताया जा रहा है कि किसी तरह दो युवक वहां से जान बचाकर भाग निकले, जबकि एक युवक को पुलिस अपने साथ थाने लेकर पहुंची. बाद में पुलिस ने उसे छोड़ दिया और आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफजल नाइक कश्मीर के रलोगा में रहने वाले हैं. वह पिछले काफी समय से गोलागंज इलाके में रहकर मेवा बेचते हैं. बुधवार की शाम को भी वह हमेशा की तरह अपने दो दोस्तों के साथ डालीगंज पुल पर मेचा बेच रहे थे. इसी दौरान कार से तीन युवक पहुंचे और उनकी पिटाई शुरू कर दी. बताया जा रहा है कि इस दौरान उनका आधार कार्ड मांगा और जब उनके कश्मीरी होने की पहचान हो गई तो संदिग्ध कहते हुए हमला कर दिया.

बुरी तरह की पिटाई
बताया जा रहा है कि इस बीच आरोपियों के कुछ साथी भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने भी पिटाई शुरू कर दी. इस बीच दो कश्मीरी युवक किसी तरह से वहां से भागे. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और एक युवक को अपने साथ थाने लेते हुए. इस बीच आरोपी वहां से आराम से निकल गए. इसके बाद पूरे मामले की जानकारी ले पुलिस ने युवक को उसके परिचितों के पास छोड़ दिया.

बताया जा रहा है कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर ली है. जल्द ही सख्त कार्रवाई की तैयारी कर रही है.