नई दिल्लीः दिल्ली के एक परिवार के लिए दुर्गा पूजा उत्सव मातम में बदल गया है. रविवार रात में राजधानी के ख्याला इलाके में एक दुर्गा पूजा पंडाल में पसंदीदा गाना बजाने को लेकर कहासुनी हो गई. देखते ही देखते ये कहासुनी मारपीट में बदल गई और एक 44 वर्षीय व्यक्ति की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई. दरअसल, रियाज नामक व्यक्ति रविवार रात में अपने घर के पास बने एक दुर्गा पंडाल में गए थे. वहां पसंदीदा गाना बजाने को लेकर उनकी तीन लोगों के साथ कहासुनी हो गई. पुलिस ने बताया कि रियाज ने पसंदीदा गाने को लेकर हुई कहासुनी के दौरान पंडाल के प्रभारी से गाना बदलने को कहा. पंडाल में उनकी विनय, मनोज और महेश नामक व्यक्ति से कहासुनी हुई. इस कहासुनी के बाद दोनों पक्ष विवाद सुलझाने के लिए पार्क के बाहर आ गए. इसी कहासुनी के दौरान एक व्यक्ति गुस्से में आ गया और उसने रियाज के सिर में चाकू घोंप दी. इसके बाद रियाज को पास के अस्पताल में ले जाया गया, जहां से उनको सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट किया गया, जहां उनकी दो दिनों बाद मौत हो गई. मंगलवार को रियाज का शव परिजनों को सौंप दिया गया. Also Read - पति से झगड़े के बाद फांसी के फंदे पर लटकी महिला, तभी पहुंची पुलिस...फिर ये हुआ

दिल्ली वेस्ट की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने कहा कि रविवार रात में ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. शुरुआत में पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 के तहत ख्याला पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया था, जिसे बाद में धारा 302 में तब्दील कर दिया गया. पूछताछ में तीनों आरोपियों ने अपना अपराध कबूल कर लिया है. इन तीनों आरोपियों के आपराधिक रिकॉर्ड भी रहे हैं. पुलिस ने यह भी बताया कि रियाज ने भी आरोपियों के खिलाफ पहले मुकदमा दायर करवाया था. पुलिस वीडियो फूटेज के जरिए घटना को स्थापित करने में जुटी है. Also Read - दर्दनाकः पत्नी और दो माह, पांच साल व सात साल के तीन बच्चों की गला काटकर हत्या की

Also Read - कार से पीछा किया, दौड़ाया और बरसा दी गोलियां, VIDEO देख आपके भी उड़ जाएंगे होश