नई दिल्लीः दिल्ली के एक परिवार के लिए दुर्गा पूजा उत्सव मातम में बदल गया है. रविवार रात में राजधानी के ख्याला इलाके में एक दुर्गा पूजा पंडाल में पसंदीदा गाना बजाने को लेकर कहासुनी हो गई. देखते ही देखते ये कहासुनी मारपीट में बदल गई और एक 44 वर्षीय व्यक्ति की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई. दरअसल, रियाज नामक व्यक्ति रविवार रात में अपने घर के पास बने एक दुर्गा पंडाल में गए थे. वहां पसंदीदा गाना बजाने को लेकर उनकी तीन लोगों के साथ कहासुनी हो गई. पुलिस ने बताया कि रियाज ने पसंदीदा गाने को लेकर हुई कहासुनी के दौरान पंडाल के प्रभारी से गाना बदलने को कहा. पंडाल में उनकी विनय, मनोज और महेश नामक व्यक्ति से कहासुनी हुई. इस कहासुनी के बाद दोनों पक्ष विवाद सुलझाने के लिए पार्क के बाहर आ गए. इसी कहासुनी के दौरान एक व्यक्ति गुस्से में आ गया और उसने रियाज के सिर में चाकू घोंप दी. इसके बाद रियाज को पास के अस्पताल में ले जाया गया, जहां से उनको सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट किया गया, जहां उनकी दो दिनों बाद मौत हो गई. मंगलवार को रियाज का शव परिजनों को सौंप दिया गया.Also Read - Bangladesh communal violence: विदेश मंत्री बोले- किसी के साथ रेप नहीं हुआ, मंदिर भी नहीं तोड़े गए; सिर्फ मूर्ति को नुकसान पहुंचा

दिल्ली वेस्ट की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने कहा कि रविवार रात में ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. शुरुआत में पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 के तहत ख्याला पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया था, जिसे बाद में धारा 302 में तब्दील कर दिया गया. पूछताछ में तीनों आरोपियों ने अपना अपराध कबूल कर लिया है. इन तीनों आरोपियों के आपराधिक रिकॉर्ड भी रहे हैं. पुलिस ने यह भी बताया कि रियाज ने भी आरोपियों के खिलाफ पहले मुकदमा दायर करवाया था. पुलिस वीडियो फूटेज के जरिए घटना को स्थापित करने में जुटी है. Also Read - Delhi News: बिजली कर्मचारी बनकर घर में घुसे लुटेरे, बंदूक की नोक पर लूटे लाखों रुपए और गहने | Video Viral

Also Read - दिल्ली: Delhi Police Constable की पत्नी ने की आत्महत्या, बेहोशी की हालत में मिले बच्चे