नई दिल्ली: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने एयर इंडिया में महिला कर्मचारियों के खिलाफ यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर शुक्रवार  को  समीक्षा बैठक की और नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कहा कि वह सभी विमानन कंपनियों को अपने पुरुष कर्मचारियों को संवेदनशील बनाने के लिए निर्देशित करे. उन्होंने कहा, ” मैंने एयर इंडिया को निर्देश दिया है कि वह अपने पुरुष कर्मचारियों को संवेदनशील बनाए ताकि महिला किसी भी तरह से डरी हुई महसूस नहीं करें. मैं नागरिक उड्डयन मंत्रालय से भी आग्रह करती हूं कि वह निजी एयरलाइंस के पुरुष कर्मचारियों को संवेदनशील बनाएं.’’

मेनका गांधी ने शुक्रवार को नागरिक उड्डयन मंत्रालय, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें एयर इंडिया एवं एयर इंडिया एक्सप्रेस में महिला कर्मचारियों खिलाफ यौन उत्पीड़न के मामलों की समीक्षा की गई.

बैठक के बाद मंत्री ने ट्वीट कर कहा, ”बैठक के दौरान एयर इंडिया के सीएमडी ने सूचित किया कि कंपनी के अलग अलग आंतरिक शिकायत प्रकोष्ठ (आईसीसी) के समक्ष 12 मामले चल रहे हैं.” उन्होंने कहा, ”इन आईसीसी को निर्देश दिया गया कि वह प्रक्रिया को तेज करे ताकि महिलाओं की चिंताओं का निवारण हो सके, शिकायत के निवारण के लिए उचित प्रशासनिक एवं कानूनी व्यवस्था बनाने पर भी विचार किया जाए.” मेनका ने कहा, ” मैं विमानन कंपनियों के पुरुष कर्मचारियों खासकर पायलट से आग्रह करती हूं कि वे महिला कर्मचारियों के बारे में धारणा को लेकर संवेदनशील रहें.”