प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच आदमी कहने के बाद कांग्रेस से सस्पेंड हुए मणिशंकर अय्यर के तेवर अभी नर्म नहीं हुए हैं. अय्यर ने इसे लेकर राहुल गांधी और कांग्रेस से तो माफी मांग ली लेकिन मोदी से माफी पर चुप्पी साधे रखी. अपने बयान के लिए गुरुवार को ही पार्टी से सस्पेंड हुए अय्यर ने आज कहा कि मैं किसी भी तरह की सजा भुगतने के लिए तैयार हूं.

अय्यर ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में गुजरात में कांग्रेस जीतेगी. अगर मेरे बयान से राहुल गांधी, कांग्रेस को कोई नुकसान हुआ है तो मैं इसके लिए बहुत दुखी हूं और माफी चाहता हूं. मेरा ऐसा इरादा नहीं था. कांग्रेस पार्टी मुझे जो भी सजा देगी मैं उसे भुगतने के लिए तैयार हूं. अय्यर ने कहा कि मेरे इस बयान का गुजरात चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा. अय्यर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने उन्हें बहुत कुछ दिया है और यदि कांग्रेस नहीं रही तो भारत का कोई भविष्य नहीं होगा.

वहीं, आज बीजेपी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने इसे लेकर अय्यर और कांग्रेस को फिर निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि हमें अब भी अय्यर की माफी का इंतजार है. अय्यर का ये कहना गलत है कि उन्हें हिंदी नहीं आती. उन्हें अच्छी तरह से हिंदी आती है. मैंने उन्हें कई बार धाराप्रवाह हिंदी बोलते देखा है. अय्यर ने अपनी शर्तों पर माफी मांगी है. गाली देना राजनीति का हिस्सा नहीं है.

हिंदी पर फोड़ा था ठीकरा

बता दें कि मोदी को नीच आदमी कहे जाने का मामला तूल पकड़ने के बाद मणिशंकर ने इसका ठीकरा हिंदी पर फोड़ा था. अय्यर ने कहा कि मुझे ठीक से हिंदी नहीं आती. मैंने अंग्रेजी के लो (Low) शब्द का अनुवाद नीच में कर लिया. अगर नीच शब्द का मतलब लो बोर्न (निम्न जाति में जन्म) है तो मैं इसके लिए माफी मांगता हूं. अय्यर ने कहा कि मैं कांग्रेस का साधारण कार्यकर्ता हूं, किसी पद पर भी नहीं हूं. मुझे तो गुजरात में कैंपेन के लिए भी नहीं बुलाया गया. तो फिर मेरे बयान को इतना तूल क्यों दिया जा रहा है.

अय्यर के बयान पर सियासी संग्राम छिड़ गया. पीएम मोदी सहित बीजेपी ने अय्यर और कांग्रेस पर पुरजोर हमला बोल दिया. ना सिर्फ मोदी ने बल्कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने अय्यर के बयान को रिट्वीट किया. अरुण जेटली ने भी इसे कांग्रेस की कुलीन मानसिकता बताया और कहा कि कांग्रेस के लिए समाज के निचले तबके से आने वाले नीच हैं. इसके बाद कांग्रेस ने अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पार्टी से सस्पेंड कर दिया.